न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

हज़ारीबाग में दिखी रेलवे और पुलिस की संवेदनहीनता, शव के ऊपर दौड़ती रही ट्रेन

अहले सुबह ही स्थानीय लोगों ने पुलिस और रेलवे को शव के बारे में दी थी सूचना, घंटों ट्रैक पर यूं ही पड़ी रही लाश

564

Hazaribagh: हजारीबाग रेलवे स्टेशन के पास रेलवे और स्थानीय पुलिस की संवेदनहीनता सामने आयी है. जहां मानवता को शर्मसार करते हुए ट्रैक पर पड़े शव को हटाने की जहमत नहीं उठायी गयी और घंटों इस शव के ऊपर से ट्रेनें गुजरती रहीं. जबकि स्थानीय पुलिस और रेलवे दोनों को स्थानीय लोगों ने सूचना दी थी.

इसे भी पढ़ेंः पहले चरण के लिए नामांकन का आज आखिरी दिन, कई दिग्गज करेंगे नोमिनेशन-11 अप्रैल को वोटिंग

घंटों ट्रैक पर पड़ा रहा शव

hosp3

बताया जा रहा है कि हजारीबाग रेलवे स्टेशन के समीप कदमा शनि मंदिर के पास ट्रेन से कटकर एक युवक की मौत हो गई. घटना बीती रात की बताई जा रही है. स्थानीय लोगों ने अहले सुबह शव को रेलवे ट्रैक पर पड़ा देखा.

जिसके बाद रेलवे को इसकी सूचना दी गई. लेकिन शव को हटाने की जहमत रेलवे के अधिकारियों की ओर से नहीं की गई. इस दौरान पैसेंजर ट्रेन उसी ट्रैक पर शव के ऊपर से गुजरी.

इसे भी पढ़ेंः वोटिंग के लिए पीएम मोदी की अपील: ट्विटर पर #VoteKar कैंपेन की शुरुआत 

सूचना के तीन घंटे बाद भी नहीं पहुंची थी पुलिस

बताया जा रहा है कि स्थानीय लोगों ने जैसे ही शव को देखा, सबसे पहले स्थानीय पुलिस को इसकी सूचना दी. लेकिन सूचना के बाद भी 3 घंटे बीत जाने तक पुलिस मौके पर नहीं पहुंची थी.

युवक की पहचान अब तक नहीं की जा सकी है. युवक की जेब से किसी भी प्रकार का कोई सुसाइड नोट या मोबाइल फोन बरामद नहीं किया गया है. स्थानीय लोगों की माने तो सुबह 6:00 बजे ही पुलिस को सूचित कर दिया गया था. लेकिन खबर लिखे जाने तक पुलिस मौके पर नहीं पहुंची थी.

इसे भी पढ़ेंःराजद प्रदेश अध्यक्ष अन्नपूर्णा पहुंची सीएम आवास, बीजेपी में होंगी शामिल, राजद के सुभाष यादव भड़के

इस बावत हजारीबाग पुलिस अधीक्षक मयुर पटेल से बात करने पर उन्होंने बताया कि पुलिस को देरी से सूचना मिली थी. इस वजह से समय से पुलिस नहीं पहुंच सकी. अभी मुझे पता चला है तत्काल स्थानीय पुलिस को भेज रहा हूं.

इसे भी पढ़ेंः राजधानी में मोआवोदियों की पोस्टरबाजी, बरियातू थाना क्षेत्र में कई जगहों पर लगाये पोस्टर

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

You might also like
%d bloggers like this: