न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

पेयजल और स्वच्छता विभाग में वरीयता सूची की अनदेखी कर दी जा रही है प्रोन्नति

88
  • मुख्य अभियंता, अधीक्षण अभियंता स्तर के अधिकारियों में नाराजगी

Ranchi : राज्य के पेयजल और स्वच्छता विभाग में प्रोन्नति को लेकर वरीयता सूची की अनदेखी करने का मामला सामने आया है. विभाग में मुख्य अभियंता, अभियंता प्रमुख, अधीक्षण अभियंता के पदों पर प्रोन्नति को लेकर बनायी गयी वरीयता सूची को तवज्जो नहीं दी जाती है. इसका स्पष्ट उदाहरण हाल ही में अभियंता प्रमुख के पद पर पदस्थापित श्वेताभ कुमार के मामले में देखा गया. मुख्य अभियंता के पद पर तीन वर्ष का कार्य अनुभव रखनेवालों को अभियंता प्रमुख बनाने का नियम है. लेकिन, नियमों को शिथिल करते हुए श्री कुमार को प्रोन्नति दी गयी. इन्हीं के बैच (1987 बैच) के ही सामान्य कोटि के संजय कुमार झा अब भी अधीक्षण अभियंता ही हैं. इसी बैच के हीरा लाल प्रसाद, जो क्षेत्रीय मुख्य अभियंता हैं और पांच वर्ष पहले मुख्य अभियंता बने थे, उन्हें विभाग की तरफ से अभियंता प्रमुख नहीं बनाया गया. वह 30 नवंबर 2019 को रिटायर भी हो जायेंगे. प्रोन्नति मामले में वरीयता सूची की अनदेखी को लेकर मुख्य अभियंता, अधीक्षण अभियंता स्तर के अधिकारियों में नाराजगी है.

इसे भी पढ़ें- रांची में 6 मई को चुनाव, चतरा, लोहरदगा और पलामू में 29 अप्रैल को

जानकारी के अनुसार 1987 बैच के अधिकारियों में श्वेताभ कुमार, उमेश गुप्ता, संजय कुमार झा, रामप्रवेश सिंह, नवरंग सिंह जैसे अभियंता भी हैं. इन्हें 15.11.2000 को कार्यपालक अभियंता के पद पर प्रोन्नति दी गयी थी. उमेश गुप्ता विभाग में कार्यपालक अभियंता ही हैं. इन्होंने झारखंड हाई कोर्ट में प्रोमोशन को लेकर याचिका दायर कर रखी है. इसलिए इनका नाम विभाग की स्थापना समिति की तरफ से प्रोन्नति को लेकर शामिल ही नहीं किया जाता है. जबकि, अन्य को अधीक्षण अभियंता में प्रोन्नति मिली है. विभाग में अनुसूचित जनजाति संवर्ग से 1989 बैच के सदानंद मंडल, सृष्टिधर मोदी और विजय टोप्पो जैसे अधिकारी भी हैं. ये अधीक्षण अभियंता तो बन गये. सृष्टिधर मोदी और हीरा लाल प्रसाद को सरकार ने एक साथ मुख्य अभियंता के पद पर प्रोन्नति दी थी, पर विभाग की तरफ से अभियंता प्रमुख के एकल पद को लेकर सामान्य कोटि के ही अधिकारियों को तरजीह दी जा रही है.

इसे भी पढ़ें- लोकसभा चुनाव-2019 : जानिये कांग्रेस के किस-किस नेता की झारखंड में उम्मीदवारी पर है दावेदारी

विभागीय मंत्री ने तुरंत डीपीसी कर स्थापना की बैठक करने का दिया है निर्देश

विभागीय मंत्री चंद्रप्रकाश चौधरी ने प्रोन्नति मामले में हो रही गड़बड़ी पर अधिकारियों को सर्वोच्च न्यायालय के फैसले का अनुपालन करने का निर्देश दिया है. उन्होंने कहा है कि अधीक्षण अभियंता और मुख्य अभियंता के पद पर प्रोन्नति को लेकर रोस्टर के आधार पर विभागीय प्रोन्नति समिति की बैठक की जाये. इसके बाद स्थापना समिति की बैठक कर प्रोन्नति से खाली पदों को तत्काल भरा जाये.

Whmart 3/3 – 2/4

इसे भी पढ़ें- प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना के तहत मिला गैस चूल्हा फटा, बाल-बाल बची गृहिणी

न्यूज विंग की अपील


देश में कोरोना वायरस का संकट गहराता जा रहा है. ऐसे में जरूरी है कि तमाम नागरिक संयम से काम लें. इस महामारी को हराने के लिए जरूरी है कि सभी नागरिक उन निर्देशों का अवश्य पालन करें जो सरकार और प्रशासन के द्वारा दिये जा रहे हैं. इसमें सबसे अहम खुद को सुरक्षित रखना है. न्यूज विंग की आपसे अपील है कि आप घर पर रहें. इससे आप तो सुरक्षित रहेंगे ही दूसरे भी सुरक्षित रहेंगे.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like