Crime NewsJamshedpurJharkhandKhas-KhabarNEWS

Seena Bora Murder Case : इनकी मुस्‍कुराहट में छि‍पा है भवि‍ष्‍य की दुश्‍वारि‍याें से दो-चार होने का डर, जान‍िए इंद्राणी मुखर्जी का जमशेदपुर कनेक्‍शन

News Wing Desk :  इंद्राणी मुखर्जी तकरीबन सात साल बाद जेल की सलाखों से बाहर खुली हवा में सांस ले रही है. सुप्रीम कोर्ट से जमानत म‍िलने के बाद वह जेल से बाहर निकली तो चेहरे पर सकून साफ झलक रहा था. मीड‍िया से मुखात‍िब इंद्राणी ने मुस्‍कान बिखेरी और बेहतर महसूस करने की बात कही. हालांक‍ि, मुस्‍कुराहट के बावजूद यह छ‍िपा नहीं रह गया क‍ि भव‍िष्‍य की दुश्‍वार‍ियों से दो-चार होने का डर उन्‍हें जरूर सता रहा है. जैसा क‍ि कहा भी-घर जा रही हूं, इस बात की खुशी है. जहां तक आगे की बात है अभी कुछ प्‍लान नहीं क‍िया है.

आपको पता होगा क‍ि बेटी सीना बोरा हत्‍याकांड के बाद देश-दुन‍िया में सुर्ख‍ियां बनी इंद्राणी का झारखंड के जमशेदपुर से खास कनेक्‍शन है. उसने जमशेदपुर में केबल का कारोबार करनेवाले संजीव खन्ना के साथ शादी रचाई थी. संजय खन्ना का परिवार गोलमुरी के रिफ्यूजी कॉलोनी में रहता था. संजय खन्ना का आदित्यपुर औद्योगिक क्षेत्र में केमिकल प्लांट भी था. शादी करने के बाद संजीव इंद्राणी को लेकर जमशेदपुर आया था. 1998 के बाद से उसका यहां आना नहीं हुआ. संजीव के स्‍वभाव के उलट चंचल थी इंद्राणी. टाटा मोटर्स ने 1990 में संजीव खन्ना की कंपनी कोंडिक्स प्राइवेट लिमिटेड को टेल्को क्षेत्र में केबल नेटवर्क प्रसारण का काम सौंपा था. कंपनी की ओर से केबल संचालन के लिए संजीव को एक मकान दिया गया था. उस मकान की छत पर संजीव की ओर से केबल नेटवर्क की छतरी लगाई गई थी. केबल कनेक्शन के एवज में हर महीने उसकी कंपनी को टाटा मोटर्स की ओर से सीधे भुगतान किया जाता था. 1995 में कंपनी के कंट्रोल रूम में आग लग गई थी. इसके बाद टाटा मोटर्स ने उससे काम वापस ले लिया था.

सीना बोरा हत्‍याकांड में संजीव पर लगा शाम‍िल रहने का आरोप
संजीव खन्‍ना बाद में कोलकाता में रहने लगा. हफ्ते में एक-दो दिन के लिए ही कोलकाता से जमशेदपुर आया करता था. उसने अपने रिश्तेदार जीएम कपूर एवं राजीव बेरी के साथ आदित्यपुर इंडस्टियल एरिया में एक प्लांट लगाया था. यहां केमिकल बनाने का काम होता था और इसकी आपूर्ति टाटा स्टील में होती थी. 1998 के बाद यह प्लांट बंद हो गया. इसके बाद कोलकाता से संजीव का जमशेदपुर आना-जाना बंद हो गया.

Catalyst IAS
SIP abacus

महत्‍वाकांझा ने इंद्राणी को संजीव से कर द‍िया दूर,तलाक के बाद कर ली पीटर मुखर्जी 

MDLM
Sanjeevani

संजीव और इंद्राणी से एक बेटी विधि है. हालांक‍ि, संतान मोह भी संजीव और कल्‍याणी का एक साथ जोड़े नहीं रख सका और इंद्राणी ने संजीव खन्ना को तलाक दे दिया. तलाक के बाद इंद्राणी ने स्टार इंडिया के सीईओ पीटर मुखर्जी से शादी कर ली. सकबुछ ठीक-ठाक चल रहा था, लेक‍िन सीना बोरा हत्‍याकांड के खुलासे के बाद हालात ने करवट ली. जेल की सलाखों के पीछे पहुंच गए पीटर मुखर्जी ने जमानत पर जेल से बाहर आने के बाद इंद्राणी से कानूनन संबंध विच्‍छेद कर लि‍ये.

क्या है शीना बोरा मर्डर केस

अप्रैल 2012 में शीना बोरा के अपहरण और हत्या का आरोप लगाते हुए मुंबई पुलिस में एक मामला दर्ज किया गया था. 2015 में सीबीआई ने जांच शुरू की थी. इंद्राणी मुखर्जी और उसके पत‍ि पीटर मुखर्जी को गिरफ्तार कर लिया गया था. पिछले साल दिसंबर महीने में इंद्राणी ने सीबीआई को एक पत्र लिखा था जिसमें कहा गया था कि वह एक कैदी का बयान दर्ज करने के लिए विशेष अदालत का रुख करेगी, जिसने दावा किया था कि वह कश्मीर में बोरा से मिली थी. अदालत ने कई मौकों पर उनकी जमानत खारिज करती रही. पिछले साल नवंबर में बॉम्बे हाईकोर्ट ने उसकी जमानत याचिका खारिज कर दी थी क‍ि परिस्थितिजन्य साक्ष्य ने हत्या में उसकी प्रत्यक्ष भागीदारी का मजबूती से समर्थन किया था.

पूर्व पत‍ि संजीव खन्‍ना ने भी की सीना की हत्‍या में मदद

इंद्राणी पर आरोप है कि उसने अपनी बेटी शीना (24 वर्ष) की अप्रैल 2012 में अपने तत्कालीन ड्राइवर श्यामवर राय और पूर्व पति संजीव खन्ना की मदद से हत्या कर दी थी. सीना बोरा की अप्रैल 2012 में इंद्राणी मुखर्जी, उसके तत्कालीन ड्राइवर श्यामवर राय और पूर्व पति संजीव खन्ना द्वारा एक कार में कथित तौर पर गला घोंटकर हत्या कर दी गई थी. शव को पड़ोसी रायगढ़ जिले के एक जंगल में जला दिया गया था. बोरा पूर्व पत‍ि से इंद्राणी की बेटी थी.

ये भी पढ़ें-Jamshedpur : कार्तिक ने हत्या करने की दी थी धमकी इसलिए उतार दिया मौत के घाट

Related Articles

Back to top button