Corona_UpdatesJharkhandRanchiTOP SLIDER

RANCHI: कोरोना के बढ़ते मामलों को देख डीसी ने की बैठक, कहा- रिलैक्स न हों अधिकारी

कोरोना पॉजिटिव मरीजों को घर पर नहीं, संस्थागत आइसोलेशन में रखें

Ranchi : रांची डीसी छविरंजन ने कहा कि कोरोना पॉजिटिव मरीजों को होम आइसोलेशन में नहीं बल्कि उन्हें संस्थागत आइसोलेशन में रखें. डीसी ने सभी इंसिडेंट कमांडर से पिछले सात दिनों में सामने आये पॉजिटिव मरीजों की डिटेल मांगी है. उन्होंने कहा कि सभी इंसिडेंट कमांडर ये सुनिश्चित करें कि कोई कोविड मरीज घर पर न हो, सभी इंस्टीट्यूशनल आइसोलेशन में रहें. डीसी सोमवार को जिलास्तरीय कोविड-19 टास्क फोर्स की वर्चुअल मीटिंग कर रहे थे. इस दौरान उन्होंने जिला में कोविड-19 टीकाकारण और कोरोना संक्रमण के रोकथाम के लिए गठित विभिन्न कोषांगों के कार्यों की समीक्षा भी की. इस दौरान उन्होंने उपविकास आयुक्त रांची को खेलगांव, सीसीएल और सदर अस्पताल का भ्रमण कर आइसोलेशन सेंटर की तमाम व्यवस्था दुरुस्त करने का निर्देश दिया.

इसे भी पढ़ें – रांची सदर अस्पताल में 3 कोरोना पॉजिटिव एडमिट, सप्ताह में मरीजों की संख्या सौ के पार

advt

रिलैक्स करने का वक्त नहीं: उपायुक्त

कोरोना की तीसरी लहर की आशंका और पिछले कुछ दिनों में संक्रमित मरीजों की बढ़ती संख्या को देखते हुए उपायुक्त छवि रंजन ने सभी पदाधिकारियों से कहा कि ये रिलैक्स करने का समय नहीं बल्कि और गंभीरता से काम करने की जरुरत है. उपायुक्त ने सभी कोषांग के पदाधिकारियों को प्रोएक्टिव होकर काम करने को कहा.

इसे भी पढ़ें – बिहार में पहली से आठवीं की कक्षाएं हुई शुरू, 134 दिन बाद स्कूल पहुंचे बच्चे

‘सैंपल कलेक्शन के दौरान पूरी जानकारी लें’

टेस्टिंग सेल की समीक्षा करते हुए उपायुक्त ने जांच की संख्या बढ़ाने का निर्देश दिया. उन्होंने कहा कि जिस व्यक्ति का सैंपल लिया जा रहा है उसकी सभी आवश्यक जानकारी प्राप्त करें, मोबाइल नंबर आवश्यक रूप से वेरीफाई करें. अनुमंडल पदाधिकारी रांची को उपायुक्त ने निर्देश देते हुए कहा कि ये सुनिश्चित करें कि मोबाइल नंबर वेरीफाई करने के लिए एक व्यक्ति हो. उन्होंने एयरपोर्ट, रेलवे स्टेशन, बस स्टैण्ड के साथ प्रतिदिन कम से कम तीन स्कूलों में टेस्टिंग सेंटर संचालित करने का निर्देश दिया.

बेड ऑक्यूपेंसी रिपोर्ट देने का निर्देश

बैठक के दौरान उपायुक्त छवि रंजन ने सिविल सर्जन रांची को प्रतिदिन बेड ऑक्यूपेंसी की रिपोर्ट देने का निर्देश दिया. बैठक में टीकाकरण कार्य की समीक्षा करते हुए उपायुक्त ने पूरी टीम की प्रशंसा की. उन्होंने कहा कि स्कूली शिक्षकों के टीकाकरण को लेकर जिला शिक्षा अधीक्षक और जिला शिक्षा पदाधिकारी से समन्वय स्थापित करते हुए जानकारी प्राप्त करें. जहां टीकाकरण के लिए ज्यादा संख्या में शिक्षक और छात्र हैं वहां कैंप लगाकर वैक्सीनेशन करायें. उपायुक्त ने जिन स्कूलों में कक्षाएं चल रही हैं वहां से सेंटर शिफ्ट करने का निर्देश दिया.

बैठक के दौरान जिले के विभिन्न सरकारी अस्पतालों में पीएसए प्लांट अधिष्ठापित किये जाने की समीक्षा भी उपायुक्त द्वारा की गयी. एलएमओ टैंक और पीएसए प्लांट के संचालन को लेकर उपायुक्त ने संबंधित पदाधिकारियों को आवश्यक दिशा-निर्देश दिये.

इसे भी पढ़ें  – Ranchi : रिम्स में लगेगी 12 मोबाइल X-ray मशीन, अब बेड पर ही होगा मरीजों का X-ray

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: