JharkhandRanchi

मारपीट के आरोपित को घूमता देख मोहल्लेवाले हुए आक्रोशित, किया सदर थाना का घेराव

कांग्रेस नेता अमित कुमार चौरसिया से मारपीट के आरोपी पिता-पुत्र पर कार्रवाई की मांग

Ranchi : मारपीट के आरोपित पिता व दो पुत्रों को खुला घूमता देख कोकर के भाभानगर निवासियों का गुस्सा सातवें आसमान पर पहुंच गया. शनिवार को दोपहर में आक्रोशित दर्जनों महिला-पुरुषों ने सदर थाने का घेराव किया. लोग पुलिस पर आरोपित को बचाने का आरोप लगा रहे थे. स्थानीय लोगों ने इसकी शिकायत एसएसपी सुरेन्द्र कुमार झा से की. एसएसपी के निर्देश पर सदर थाना पुलिस ने आरोपितों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज कर ली है.

जानकारी के अनुसार 16 सितंबर को कांग्रेस के वार्ड अध्यक्ष अमित कुमार चौरसिया की पहल पर कोविड-19 का टीकाकरण अभियान चलाया जा रहा था. स्वास्थ्य विभाग द्वारा डोज उपलब्ध कराया गया था, जो दोपहर 2:00 बजे खत्म हो गया. आरोप है कि मोहल्ले के ही हर्ष पाल रावत नामक व्यक्ति टीका लेने आया.

इसे भी पढ़ें :Latehar: करम विसर्जन करने गयीं 7 लड़कियों की गड्ढे में डूबकर मौत

advt

स्वास्थ्य कर्मियों ने जब कहा कि टीका समाप्त हो गया है. तो वह कर्मियों से उलझ गये और भला बुरा कहने लगे. इस पर वार्ड अध्यक्ष अमित कुमार चौरसिया ने रोकने की कोशिश की. उनके साथ भी गाली गलौज करने लगा.

स्थानीय लोगों ने समझा-बुझा कर हर्ष पाल रावत को घर भेज दिया. रात 9:00 बजे के आसपास अमित कुमार चौरसिया कहीं से अपने घर आ रहे थे.

adv

जैसे ही वह हर्ष पाल रावत के घर के पास आये हर्ष पाल रावत, उसके दो बेटे विवेक रावत हुआ अज्जू ने मारपीट शुरू कर दी. रॉड से अमित कुमार चौरसिया के सिर पर प्रहार किया जिससे वह वह घायल होकर वहीं गिर गये. किसी ने इसकी सूचना अमित कुमार चौरसिया के परिजनों को दी.

इसे भी पढ़ें :BIG NEWS : BJP का दामन छोड़ दीदी का पल्लू पकड़ा पूर्व केंद्रीय मंत्री बाबुल सुप्रियो ने

इसी दौरान किसी ने इसकी जानकारी पीसीआर को दी. सूचना पर पीसीआर की टीम मौके पर पहुंची. घायल अमित को इलाज के लिए सदर अस्पताल भेजा. रात 11:30 बजे अमित के परिजनों ने हर्षपाल और उसके दोनों बेटों के खिलाफ थाने में शिकायत दर्ज करायी.

शिकायत दर्ज होने के बाद पुलिस ने तीनों को हिरासत में ले लिया. वहीं सुबह में छोड़ दिया. सुबह-सुबह मुहल्ले में आरोपित को घूमता देख लोग नाराज हो गये.

इसे भी पढ़ें :एक्टर सोनू सूद और सहयोगियों ने 20 करोड़ रुपये से अधिक का टैक्स किया चोरी

पुलिस ने कहा- थाने में रखने को नहीं है जगह, इसीलिए छोड़ दिया

अमित कुमार चौरसिया के भाई आकाश कुमार चौरसिया ने बताया कि तीनों को मोहल्ला में घूमते देख वे लोग दोबारा सदर थाना गये. सदर थाना प्रभारी से पूछा कि जिसने मारपीट की उसे क्यों छोड़ दिया. इस पर सदर थाना प्रभारी ने कहा कि थाना में रखने की जगह नहीं थी इसलिए छोड़ दिया.

लोगों ने जब शिकायत की तो दोपहर में तीनों को थाने बुला लिया. कुछ देर थाने में रखने के बाद फिर छोड़ दिया. आरोप है कि थाना से छूटने के बाद आरोपित अमित एवं उसके परिवार वालों को चिढ़ा रहा था.

इसे भी पढ़ें :देशभर में चले महाटीकाकरण में अव्वल रहा बिहार, 30 लाख से अधिक लोगों ने ली डोज, नीतीश ने दी बधाई

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: