Crime NewsJharkhandLead NewsPalamu

ये देखिए प्रशासन की ट्रैफिक जागरुकता रैली, किसी भी बाइक में नहीं है नंबर प्लेट

मोटर वाहन एक्ट का खुला उल्लंघन, उपायुक्त ने दिखायी रैली को हरी झंडी

Palamu: पलामू जिले में इन दिनों 32वां सड़क सुरक्षा माह मनाया जा रहा है. इसके तहत शुक्रवार को जागरुकता रैली निकाली गयी, लेकिन रैली में शामिल किसी मोटरसाइकिल में रजिस्ट्रेशन नंबर नहीं था. शोरूम से निकाल कर गाड़ियों को रैली में शामिल किया गया. इससे मोटर वाहन एक्ट का खुलम खुल्ला उल्लंघन हुआ.

बाइक रैली को पलामू के उपायुक्त शशि रंजन ने हरी झंडी दिखाकर जागरुकता के लिए रवाना कर दिया. रवाना करने से पूर्व जिले के उपायुक्त ने परिवहन विभाग से पूछा कि सड़क सुरक्षा के सारे मानक पूरे किए गए हैं. वहां उपस्थित मातहत अधिकारियों ने ‘जी’ की हुंकारी भर दी, लेकिन परिवहन विभाग की इस रैली में किसी भी बाइक पर नंबर प्लेट नहीं थी. सभी शोरूम से बाइकें मंगायी गयी थी.

मजेदार बात यह है कि सारी मोटरसाइकिलें सड़क पर चलने लायक ही नहीं थीं. परिवहन विभाग के आदेशानुसार बिजनेस एनालिस्ट रितेश कुमार सिंह के द्वारा प्रत्येक दो पहिया शोरूम को 10 बाइकें-हेलमेट, रोड सेफ्टी से संबंधित स्लोगन और हैंड बैनर उपलब्ध कराने का आदेश दिया था.

इसे भी पढ़ें : ‘मनरेगा आधारित योजनाएं’, ‘कोविड-19 माइग्रेंट्स वर्कर कंट्रोल रूम’, ‘स्पेशल ट्रेन व प्लेन’ से मजदूरों की करायी गयी घर वापसी : हेमंत

मोटर वाहन एक्ट का हुआ उल्लंघन

निबंधन सहित अन्य जरूरी कागजात के शोरूम से वाहनों को बाहर निकालकर सड़कों पर चलाना कानून जुर्म है. हर दिन मेदिनीनगर सहित अन्य क्षेत्रों में मोटरसाइकिलें इन आरोपो में जब्त की जा रही हैं.

कुछ जगहों पर फाइन तो कुछ में बाइक सवारों को समझा बुझा कर छोड़ जा रहा है. ऐसे में शोरूम से नयी मोटरसाइकिल निकालकर सड़कों पर चलाना कहा तक जायज है. रैली को देखकर लोगों का कहना था कि प्रशासन करें तो सब सही, साधारण बाइक सवार के लिए यह जुर्म.

32वां सड़क सुरक्षा माह के तहत निकाली गयी बाइक रैली

बताते चलें कि पलामू में इन दिनों 32वां सड़क सुरक्षा माह मनाया जा रहा है. समाहरणालय परिसर से उपायुक्त द्वारा हरी झंडी दिखाकर रवाना की गयी बाइक रैली पूरे शहर में घूमी. रैली समाहरणालय परिसर से शुरू होकर शहर के रेड़मा, साहित्य समाज तथा बैरिया चैक से होते हुए जिला परिषद कार्यालय के पास आकर समाप्त हुई. इस दौरान सभी बाइक सवारों ने हेलमेट मास्क तथा जूते पहन रखे थे.

साथ ही साथ सभी बाइकों पर सड़क सुरक्षा के बारे में जानकारी देने के लिए पम्पलेट लगाए गए थे. लोगों को यातायात और कोविड-19 के नियमों के प्रति जागरूक किया गया.

इसे भी पढ़ें : सीएम हेमंत का ड्रिम प्रोजेक्ट, ड्रॉपआउट बच्चे भी अब बनेंगे स्मार्ट, पढ़ेंगे सीबीएसई स्कूलों में

रैली से पूर्व मौके पर उपायुक्त शशि रंजन ने सड़क दुर्घटनाओं को रोकने, दुर्घटना से बचने के उपाय, यातायात के नियमों का पालन करने तथा सुगम और सुरक्षित यात्रा के लिए जन सहभागिता और नियमों के पालन को आवश्यक बताया. उन्होंने बताया कि बढ़ती सड़क दुर्घटनाओं को देखते हुए लोगों को जागरूक करने की आवश्यकता है। ऐसे में जिला परिवहन कार्यालय द्वारा आयोजित की गई यह बाइक रैली काफी लाभप्रद होगी.

मौके पर सहायक जनसंपर्क पदाधिकारी अजीत कुमार तिवारी, जिला परिवहन कार्यालय के बिजनेस एनालिस्ट रितेश कुमार एवं आईटी असिस्टेंट सुनील कुमार सहित सैकड़ों की संख्या में बाइक सवार मौजूद थे.

2020 में 207 सड़क दुर्घटनाए, 163 की गयी जान

परिवहन विभाग के बिजनेस एनालिस्ट रितेश कुमार ने बताया कि वर्ष 2020 में कुल 207 सड़क दुर्घटनाएं रिकॉर्ड की गई हैं, जिसमें 163 लोगों की मौत हुई है. वही 180 लोग इन सड़क दुर्घटनाओं में घायल हुए हैं.

इसे भी पढ़ें : 10 लाख स्क्वायर फीट में बनेगा राज्य का नया सचिवालय भवन

Related Articles

Back to top button