न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

रातू झड़प के बाद बढ़ायी गयी सुरक्षा, समझौते के लिए प्रशासन ने बुलायी बैठक

187

Ranchi : शनिवार को धार्मिक जुलूस के दौरान रातू थाना क्षेत्र के हुरहुरी में दो गुटों के बीच हुए झड़प के बाद एहतियात के तौर पर बड़ी तादाद में पुलिस बल की तैनाती की गई है. हालांकि अभी स्थिति नियंत्रण में है, लेकिन दुकानदारों ने  दुकानों को बंद रखा है.

साथ ही दोनों गुटों के लोगों को समझौता के लिए बुलाया गया है. मौके पर ग्रामीण एसपी और सदर एसडीओ कैंप कर रहे हैं. शनिवार को हुए दो गुटों में झड़प के बाद उपद्रवियों ने कई घरों में आग लगा दी थी और कई वाहनों में भी तोड़फोड़ किया था.

इस मामले में रातू थाना परिसर में एसडीओ गरिमा सिंह के नेतृत्व में दोनों समुदाय के लोगों के साथ बैठक हो रही है. बैठक में कई अधिकारी भी मौजूद हैं. शनिवार की घटना को लेकर बैठक की जा रही है.

इसे भी पढ़ें – पार्टी में प्रदेश अध्यक्ष और प्रदेश प्रभारी ही सर्वोपरिः ददई दुबे

घर में लगा दी गई थी आग

शनिवार को धार्मिक जुलूस के दौरान रातू थाना क्षेत्र के हुरहुरी में दो गुटों के बीच झड़प हो गई. दोनों गुटों की ओर से एक दूसरे को पर पत्थरबाजी भी की गई थी. इस दौरान उपद्रवियों ने जहां एक दर्जन वाहनों में आग लगा दी, वहीं उपद्रवियों के द्वारा कई घरों में भी आग लगा दिया गया. पत्थरबाजी में पुलिसकर्मी सहित कई लोग घायल हो गए.

जिसके बाद पुलिस ने हालात को काबू करने के लिए लाठीचार्ज किया. घटना के बाद दोनों गुटों के लोग कई टुकड़ियों में बैठकर अपना विरोध जता रहे थे. साथ ही विरोध करने वालों में पुरुषों के साथ महिलाएं भी पारंपरिक हथियारों लैस थे और अपना विरोध जता रही थीं.

इसे भी पढ़ें – चतरा संसदीय सीटः गठन के 60 साल बीते, नहीं बना आजतक कोई स्थानीय सांसद  

 बुलाई गई है शांति समिति की बैठक

घटना के बाद दोनों गुटों के लोगों को समझौता के लिए बुलाया गया है. प्रशासनिक अधिकारी की मौजूदगी में दोनों गुटों के बीच बैठक किया जा रहा है. इस बैठक में निर्णय लिया जाएगा कि इस तरह की घटना दोबारा ना हो. साथ ही इस घटना में जो क्षति लोगों की हुई है, उनको मुआवजा दिया जाए.

इसे भी पढ़ें – चंद्रपुराः छुट्टी नहीं मिलने से नाराज लोको पायलट ने किया आत्महत्या का प्रयास,  इंचार्ज पर भी किरोसिन…

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like
क्या आपको लगता है हम स्वतंत्र और निष्पक्ष पत्रकारिता कर रहे हैं. अगर हां, तो इसे बचाने के लिए हमें आर्थिक मदद करें.
आप अखबारों को हर दिन 5 रूपये देते हैं. टीवी न्यूज के पैसे देते हैं. हमें हर दिन 1 रूपये और महीने में 30 रूपये देकर हमारी मदद करें.
मदद करने के लिए यहां क्लिक करें.-

you're currently offline

%d bloggers like this: