न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

हज़ारीबागः अवैध रूप से संचालित क्रशर में एसडीओ ने मारा छापा, एक गिरफ्तार, कई क्रशर सील

1,313

Hazaribagh:  जिले के इचाक में अवैध रूप से संचालित क्रेशरों पर मंगलवार को सदर एसडीओ मेघा भारद्वाज ने टीम के साथ छापेमारी की. इस छापेमारी में कई अवैध क्रेशर को सील कर दिया गया है.

mi banner add

वहीं एक क्रेशर संचालक को गिरफ्तार किया गया है. छापेमारी के दौरान एसडीओ ने इचाक थाना क्षेत्र के इचाक चौक, सिझुवा, बोंगा के क्षेत्रों में क्रेशरों में जांच पड़ताल की. इस दौरान कई त्रुटियों को देख सभी को सील कर दिया गया. वहीं मौके से एक क्रेशर संचालक को गिरफ्तारी किया है.

इचाक में एसडीओ की छापेमारी से संचालकों में हड़कम्प मच गया है. सभी भागने में सफल रहे. अगर हज़ारीबाग जिले की बात करें तो इचाक प्रखंड, विष्णुगढ़ प्रखंड, बड़कागांव प्रखंड, बरकट्ठा प्रखंड, पदमा प्रखंड, चुरचू प्रखंड, टाटीझरिया, कटकमसांडी प्रखंड, कटकमदाग, दारू के अलावे अन्य प्रखंडों में कई अवैध क्रेशर संचालित हैं.

इसे भी पढ़ेंः चांसलर पोर्टल ठीक नहीं होने से छात्रों में रोष, सुधार नहीं हुआ तो अनिश्चितकालीन तालाबंदी

 अवैध क्रशर संचालकों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज

अवैध संचालित क्रशर के मालिकों पर एसडीओ के आदेश पर इचाक थाने में प्राथमिकी दर्ज करायी गयी है. इस बाबत एसडीओ ने बताया कि अवैध रूप से क्रशर संचालन की सूचना लगातार मिल रही थी.

इसी आधार पर कार्रवाई की गयी है. बताया कि जांच में कई कागजी कमियां मिली हैं. जिससे सभी को सील किया गया है. प्राथमिकी दर्ज कर सभी लोगों पर नियम संगत कार्रवाई की प्रक्रिया चल रही है.

इसे भी पढ़ेंः बड़ा तालाब के किनारे कंक्रीट का इस्तेमाल कम से कम हो : अजय कुमार सिंह

पहले भी हो चुकी है कार्रवाई

आपको बताते चलें कि हज़ारीबाग जिले में ऐसे सैकड़ों अवैध क्रशर संचालित हैं. कई बार जिला प्रशासन की ओर से अवैध रूप से संचालित क्रशरों को बंद करने की कवायद की जा चुकी है.

कई क्रशरों को सील भी किया गया. लेकिन आज तक स्थाई रूप से बंद नही कराया जा सका. आलम ये है कि प्रशासन द्वारा अवैध संचालित क्रशरों को सील तो कर दिया जाता रहा है, लेकिन कुछ ही दिन में क्रशर मालिको द्वारा पुनः शुरू कर दिया जाता है.

जिला प्रशासन पर कई बार पैसे लेकर अवैध क्रशरों को संचालित करवाने के आरोप लगते रहे हैं.

इसे भी पढ़ेंः बोकारोः स्वांग के चार मजदूर हैदराबाद में बने बंधक, एसडीओ से मुक्त कराने की गुहार

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like
%d bloggers like this: