न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

SDO मैडम! जरा एक बार शाम को रांची में अल्बर्ट एक्का चौक से ओवरब्रिज तक सैर कीजिये

123

Ranchi : एसडीओ मैडम! सिर्फ सेंटेविटा गली में डंडा हांकने से स्थिति में सुधार नहीं आनेवाला. मेन रोड, अल्बर्ट एक्का चौक, सर्जना चौक, सुजाता चौक और कडरू मोड़ के पास भी लोगों को डिसीप्लीन सिखाने की जरूरत है. मेन रोड में दुकानदारों को ढंग से दुकान लगाने, ऑटो चालकों और ई-रिक्शा चालकों को भी अनुशासन सिखाने के लिए सख्त निर्णय लेने होंगे. नगर निगम द्वारा पहले भी फुटपाथ दुकानदारों के लिए कई बार आदेश निकाला गया था. फुटपाथ दुकानदारों को एक रेखा के अंदर दुकान लगाने को कहा गया. लेकिन सब आदेश-निर्देश धरे के धरे रह गये. इन दिनों मेन रोड में कदम रखना भी मुश्किल हो रहा है. लोगों को अल्बर्ट एक्का चौक से सुजाता चौक की दूरी तय करने में एक घंटे से भी ज्यादा वक्त लग रहा है. फुटपाथ दुकानदार अपनी दुकान लेकर सड़क के बीचोंबीच आ चुके हैं. इन दुकानदारों में पुलिस और प्रशासन, दोनों का खौफ समाप्त हो चुका है. वहीं, ऑटो चालक, ई-रिक्शा चालकों द्वारा बेतरतीब ढंग से पार्क करना और वाहन चलाना भी जाम बढ़ाने में अहम भूमिका निभाता है.

इसे भी पढ़ें- फुल फॉर्म में नजर आयीं रांची की नई एसडीओ, हाथ में डंडा ले ऑटो चालकों को खदेड़ा

हर चौक-चौराहा जाम

त्योहारों के नजदीक आते ही राजधानी में जाम का मुद्दा गरमाने लगता है. वैसे तो कुछ मुख्य सड़कें हैं, जहां सालों भर लोगों को जाम का सामना करना पड़ता है. न्यूज विंग की पड़ताल में राजधानी के पिस्का मोड़ से लेकर, रातू रोड, कचहरी, सर्कुलर रोड, अल्बर्ट एक्का चौक, कांटाटोली, कोकर व अन्य कई मुख्य सड़कों पर जाम का झाम सामने आया. एसडीओ गरिमा सिंह ने पद संभालते ही सेंटेविटा अस्पताल के समीप जाम हटाने का प्रयास किया था. ऑटो चालकों व ई-रिक्शा चालकों को सख्त निर्देश भी दिये थे, लेकिन स्थिति फिर से पहले की ही तरह हो चुकी है.

इसे भी पढ़ें- आजादी के 70 साल के बाद हमने चुकाया भगवान बिरसा का ऋण : रघुवर दास

palamu_12

पांच हजार दुकानदार मेन रोड में, बसाये जायेंगे मात्र 400

राजधानी के फुटपाथ दुकानदारों को बसाने के लिए रांची नगर निगम ने वर्ष 2012 से ही प्लानिंग शुरू कर दी है. इसके तहत जयपाल सिंह स्टेडियम के पूर्वी भाग,  सर्वे मैदान, नागा बाबा खटाल, पुरूलिया रोड, रांची रेलवे स्टेशन रोड, हटिया रेलवे स्टेशन रोड, बरियातू रोड, हरमू आवास बोर्ड की जमीन, नामकुम रेलवे स्टेशन के समीप आदि जगहों पर फुटपाथ दुकानदारों को बसाने की योजना बनायी गयी थी. हालांकि, इन स्थानों में सिर्फ जयपाल सिंह स्टेडियम के पूर्वी भाग में ही निर्माण कार्य आरंभ हो पाया है. अब यहां दुकानदारों को बसाने की रणनीति तैयार हो रही है. लेकिन, विडंबना यह है कि इस भवन में लगभग 400 दुकानदारों को ही बसाया जा सकेगा. जबकि, नगर निगम के सर्वे के अनुसार सिर्फ मेन रोड में पांच हजार से भी ज्यादा फुटपाथ दुकानदार हैं. वहीं, फुटपाथ दुकानदार संघ के अनुसार मेन रोड में 10 हजार से भी ज्यादा दुकानदार अपनी दुकान लगाते हैं. अत: 400 दुकानदारों को बसाने के बाद भी लगभग 4500 दुकानदार सड़क पर ही रह जायेंगे, जिससे जाम की समस्या समाप्त होना मुश्किल है.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

%d bloggers like this: