न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

समस्याओं से घिरे सदर अस्पताल में एसडीओ को नजर ही नहीं आयी कोई समस्या

64

Ranchi : दिवाली के दूसरे दिन गुरुवार को रांची की अनुमंडल पदाधिकारी (एसडीओ) गरिमा सिंह सदर अस्पताल का औचक निरीक्षण करने पहुंचीं. उन्होंने सदर अस्पताल की नयी और पुरानी बिल्डिंग का जायजा लिया. मरीजों से मिलकर समस्या भी जानने का प्रयास किया. लेकिन, दिलचस्प बात यह है समस्याओं से घिरे इस अस्पताल में एसडीओ साहिबा को कोई समस्या ही नजर नहीं आयी. एसडीओ ने लगभग एक घंटे तक सदर अस्पताल का निरीक्षण किया, लेकिन उन्हें कोई समस्या नहीं दिखी. एसडीओ ने सर्वप्रथम अस्पताल के टिकट काउंटर से मुआयना करना शुरू किया. वह अपने सुरक्षाकर्मियों के साथ अकेले ही अस्पताल का मुआयना कर रही थीं. अस्पताल का कोई पदाधिकिारी उनके साथ नहीं था. कुछ देरे के बाद डिप्टी सुपरिंटेंडेंट डॉ एके झा एसडीओ साहिबा को अस्पताल घुमाने के लिए मौजूद हुए. इस दौरान एसडीओ ने एक युवती से बात कर अस्पताल की स्थिति जाननी चाही, लेकिन युवती से उन्हें ज्यादा कुछ मालूम नहीं हो पाया.

इसे भी पढ़ें- मंत्री रणधीर सिंह के साथ गाली-गलौज, लोगों ने कैसे धक्का-मुक्की कर मंच से उतारा देखें वीडियो

मूलभूत सुविधाएं भी उपलब्ध नहीं हैं सदर अस्पताल में

राजधानी के सदर हॉस्पिटल में एक भी मूलभूत सविधा उपलब्ध नहीं है. किसी भी अस्पताल की सबसे जरूरी सामग्री होती है ट्रॉली, वह भी सदर अस्पताल में टूटी पड़ी है. लेकिन, एसडीओ को समस्या ही नहीं दिखी, जबकि टूटे हुए चक्के वाली ट्रॉली बाहर में ही रखी हुई थी. इसके अलावा मरीजों के पीने के लिए पानी की भी व्यवस्था इस अस्पताल में नहीं है. यह भी एसडीओ साहिबा निरीक्षण के दौरान नहीं देख पायीं. मरीज के परिजन पानी की बोतल खरीदकर लाते हैं. इसके अतिरिक्त भी कई समस्याएं अस्पताल में हैं, जिन पर एसडीओ मैडम की नजर ही नहीं पड़ी. पत्रकारों ने समस्या दिखाने का प्रयास भी किया, लेकिन उसे भी एसडीओ मैडम इग्नोर कर आगे बढ़ गयीं. यहां तक कि एसडीओ के सुरक्षाकर्मी पत्रकारों को न्यूज कवर करने से भी मना करते रहे.

समस्याओं से घिरे सदर अस्पताल में एसडीओ को नजर ही नहीं आयी कोई समस्या

इसे भी पढ़ें- एक सप्ताह में ही स्थापना दिवस समारोह का टेंट निर्माण की टेंडर का शर्त बदला

किसी तरह की सुविधा नहीं मिलती है अस्पताल में : मरीज के परिजन

मरीज के परिजन ने कहा कि इस अस्पताल में मूलभूत सुविधाओं का घोर अभाव है. सदर अस्पताल में जो भी इलाज कराने आते हैं, वे आर्थिक रूप से कमजोर ही होते हैं. उन्हें सुविधा नहीं मिलेगी, तो फिर वे कहां अपना इलाज कराने जायेंगे. परिजनों ने बताया कि सदर अस्पताल में पानी की सुविधा नहीं है. पानी के लिए मशीन तो लगा दी गयी है, लेकिन वह काम ही नहीं करती है.

इसे भी पढ़ें- झाड़ियों के बीच स्थित है फूड टेस्टिंग लैब, भवन के आसपास लगा है गंदगी का अंबार

समस्याएं जानने के लिए दो-तीन दिन बाद फिर जाऊंगी सदर अस्पताल : एसडीओ

निरीक्षण के दौरान एसडीओ ने रांची सदर अस्पताल की नयी और पुरानी बिल्डिंग के एक-एक भाग का भ्रमण किया, लेकिन उन्हें कोई समस्या नजर नहीं आयी. उन्होंने बयान में कहा, “अभी तो सिर्फ भवन का स्ट्रक्चर देखने आयी थी. दो-तीन दिन बाद आकर फिर से समस्याओं से अवगत होऊंगी. मरीजों से भी बात कर समस्याओं से अवगत होने का प्रयास करूंगी.”

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

%d bloggers like this: