GiridihJharkhand

गिरिडीह डीडीसी कार्यालय के बाहर पूर्व सांसद की प्रतिमा के निर्माण पर एसडीएम ने लगायी रोक, हुआ हंगामा

Giridih : गिरिडीह डीडीसी कार्यालय और जिला पर्षद के बाहर पूर्व कोडरमा सांसद रीतलाल प्रसाद वर्मा के प्रतिमा निर्माण स्थल पर चल रहे निर्माण कार्य पर जिला प्रशासन ने रोक लगा दिया. इस दौरान कुशवाहा समाज के कई सदस्यों ने इस कारवाई का जम कर विरोध भी किया. भाजपा नेता विनय सिंह और वार्ड पार्षद रंजीत यादव समेत कुशवाहा समाज के सदस्यों ने नगर निगम से मिली अनुमति का हवाला देते हुए विरोध जताया. लेकिन सदर एसडीएम विशालदीप खलको ने कुशवाहा समाज के सदस्यों की एक नहीं सुनी  और कहा कि नगर निगम का अनुमति पत्र उन्हें दिखाया जाता है तो निर्माण कार्य होने दिया जायेगा. इसके बाद निर्माण कार्य पर रोक लगा दी गयी. इधर सदर एसडीएम और डीएसपी संजय राणा समेत नगर थाना प्रभारी राम नारायण चौधरी की इस कारवाई की जानकारी मिलने के बाद काफी संख्या में समाज के लोग जुटे और जिला प्रशासन की कारवाई का विरोध किया. अधिकारी जेसीबी लेकर चबूतरा हटाने पहुंचे थे. कुशवाहा संघ के जिलाध्यक्ष इन्द्रनारायण वर्मा जेसीबी के ऊपर चढ़ गये, और अधिकारियों की कारवाई का विरोध शुरू कर दिया. इसके बाद ही जम कर हंगामा हुआ. एसडीएम विशालदीप ने कहा कि उन्हें नगर निगम का अनुमति पत्र चाहिए. इसके बाद ही निर्माण कार्य शुरू होगा. अगर किसी के द्वारा निर्माण कार्य जबरन कराया जाता है तो उसके खिलाफ कारवाई भी होगी. डीएसपी संजय राणा, नगर थाना प्रभारी आरएन चौधरी, सीओ रवि भूषण, बीडीओ समेत भारी संख्या में पुलिस बल के जवान मौके पर पहुंच गये और भीड़ को हटाया. कुशवाहा संघ के सदस्यों के साथ भाजपा ओबीसी मोर्चा के प्रदेश प्रवक्ता इंजीनियर विनय कुमार सिंह ने एसडीओ से वार्ता के लिए एक दिन का समय मांगा. जिसके बाद चबूतरे को तोड़ने पहुंची जेसीबी वापस चली गयी इस दौरान एसडीओ ने कुशवाहा समाज के लोगों को इस दौरान निर्माण कार्य न करने का निर्देश दिया.

जानकारी के अनुसार डीडीसी और जिला पर्षद कार्यलय के बाहर कुशवाहा समाज की ओर से बगैर अनुमति के पूर्व सांसद रीतलाल प्रसाद वर्मा की प्रतिमा का निर्माण कराया जा रहा है. इसे लेकर पिछले एक सप्ताह से निर्माण कार्य चल रहा है. 1 फरवरी को प्रतिमा का अनावरण किये जाने की बात कही जा रही है. जबकि इसे पहले इसी स्थान पर पूर्व सांसद की एक तस्वीर लगी हुई थी. इसे हटा कर ही प्रतिमा निर्माण कार्य कराया जा रहा था. इस दौरान इसकी जानकारी मिलने के बाद एसडीओ विशालदीप खलको सदलबल मौके पर पहुंचे और नगर निगम के कर्मियों के जरिये निर्माण कार्य को रोक दिया.

इसे भी पढ़ें – बजट पूर्व वित्त मंत्री को चैंबर प्रतिनिधियों ने दिया सुझाव, कहा- बिजनेस सेंटर स्थापित हो

Related Articles

Back to top button