न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

बिहार में एक नया घोटाला, स्टूडेंट क्रेडिट कार्ड के जरिये तीन करोड़ की चपत

दलालों ने छात्रों को फंसाया, विश्वविद्यालयों में जितनी सीटें, उससे ज्यादा छात्रों को एडमिशन दिलाया

976

Patna : बिहार में एक नया घोटाला सामने आया है. स्टूडेंट क्रेडिट कार्ड के जरिये कुछ निजी विश्वविद्यालयों और दलालों ने मिलकर सरकार को करीब तीन करोड़ रुपये का चूना लगाया है.

mi banner add

बिहार सरकार की इस महत्वाकांक्षी योजना से जुड़े घोटाले का उद्भेदन राज्य सरकार के अधिकारियों ने ही किया है.

इसे भी पढ़ें : पलामू : पत्थर माइंस पर अपराधियों का हमला, 25 से 30 राउंड फायरिंग

4100 छात्रों का भविष्य अधर में लटका

घोटाले में शामिल अधिकांश विश्वविद्यालयों को ब्लैक लिस्टेड करते हुए नया आदेश निकाला गया है जिसके तहत योजना का लाभ केवल यूजीसी द्वारा स्थापित या संबंधित संस्थानो की सूची में शामिल शिक्षण संस्थानों में पढ़ रहे छात्रों को ही मिलेगा.

शिक्षा विभाग के अधिकारियों के अनुसार, जांच में ऐसे 4100 छात्रों का पता चला है जो सरकार से लोन लेकर दलालों के चंगुल में फंस गये. सरकार ने इन छात्रों के नाम पर विश्वविद्यालयों को करीब तीन करोड़ रुपये भुगतान कराये.

घोटाला पकड़े जाने के बाद इन छात्रों की फीस की अगली किस्त रोक दी गयी है जिससे इन 4100 छात्रों का भविष्य अधर में लटक गया है.

घोटाले की जांच में पाया गया कि राजस्थान और पंजाब के अलावा उतर प्रदेश और मध्य प्रदेश के कई ऐसे निजी विश्वविद्यालय में बिहार के छात्रों का नामांकन सैकड़ों की संख्या में कराया गया है, जहां उतने विद्यार्थी के लिए  इन्फ्रास्ट्रक्चर भी नहीं था. जांच में कई ऐसे शिक्षण संस्थान मिले, जहां तय सीट से ज्यादा नामांकन हुए.

इसे भी पढ़ें : BCCL के जीएम कल्याण प्रसाद के कई ठिकानों पर चल रहा CBI का छापा, बढ़ी मुश्किलें   

ऐसे पकड़ में आया घोटाला

राजस्थान के जगन्नाथ विश्वविद्यालय (जयपुर) में नामांकन के लिए 700 से अधिक छात्रों ने लोन का आवेदन किया. एक ही विश्द्यालय से इतने आवेदन पर अधिकारियों को संदेह हुआ.

इसके बाद जब शिक्षा विभाग ने जांच शुरू की. जांच कमिटी राजस्थान के संबंधित संस्थानों में गयी तो पाया कि वहां न इतने छात्र के लिए इंफ्रास्ट्रक्चर है न ही नामांकन प्रक्रिया में कोई पारदर्शिता ही बरती जा रही है.

इसे भी पढ़ें : बड़ी कार्रवाईः 19 राज्यों के 110 स्थानों पर सीबीआइ की छापेमारी, 30 मामले दर्ज

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like
%d bloggers like this: