Khas-KhabarMain SliderNational

वीवीपैट से 50 फीसदी मिलान की मांग पर विपक्ष को झटकाः SC ने खारिज की याचिका

New Delhi: सुप्रीम कोर्ट से आज देश 21 राजनीतिक दलों को झटका लगा है. शीर्ष अदालत ने विपक्ष के 50 फीसदी चुनावी पर्ची के वीवीपैट से मिलान की अपील वाली याचिका को खारिज कर दी है.

गौरतलब है कि याचिका को टीडीपी और कांग्रेस सहित 21 विपक्षी दलों ने सुप्रीम कोर्ट में दायर की थी. इसमें पार्टियों ने मांग थी कि 50 फीसदी वीवीपैट पर्चियों की ईवीएम से मिलान का आदेश चुनाव आयोग को दिया जाए.

इसे भी पढ़ेंःवोटिंग के बाद रोड शो समेत दो मामलों में पीएम मोदी को चुनाव आयोग की क्लीनचिट

advt

बार-बार एक ही मामले को क्यों सुने- सीजेआई

ईवीएम में कथित गड़बड़ी को लेकर विपक्ष लगातार सवाल उठाता रहा है. वहीं इस मामले में हुई आज की सुनवाई के दौरान चंद्रबाबू नायडू, डी. राजा, संजय सिंह और फारूक अब्दुल्ला अदालत में मौजूद रहे.

खबर है कि याचिका को खारिज करने में कोर्ट ने ज्यादा समय नहीं लिया. साथ ही चीफ जस्टिस रंजन गोगोई ने कहा कि अदालत इस मामले को बार-बार क्यों सुने. CJI ने कहा कि वह इस मामले में दखलअंदाजी नहीं करना चाहते हैं.

इसे भी पढ़ेंःवित्त मंत्रालय ने श्रम से मांगा जवाबः घाटा होने पर कहां से देंगे PF पर बढ़ा ब्याज

उल्लेखनीय है कि पिछले महीने सुप्रीम कोर्ट ने अपने फैसले में हर विधानसभा क्षेत्र में कम से कम पांच बूथ के ईवीएम और वीवीपैट की पर्चियों के औचक मिलान करने का निर्देश चुनाव आयोग को दिया था. जिसे आयोग ने भी मान लिया था.

सुप्रीम कोर्ट ने इस लोकसभा चुनाव में ईवीएम और वीवीपैट के मिलान को पांच गुना बढ़ाया है. ऐसे में हर प्रत्येक निर्वाचन क्षेत्र मे 5 वीवीपैट का ईवीएम से मिलान किया जाएगा. लेकिन विपक्ष इसे 50 फीसदी करने की मांग कर रहा था, जिसे कोर्ट ने खारिज कर दिया.

इसे भी पढ़ेंःलोकसभा चुनाव : पांचवें चरण में हुआ 63.5 प्रतिशत मतदान

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: