NationalTODAY'S NW TOP NEWS

#CAA को लेकर SC का केंद्र को नोटिस, कानून की संवैधानिक वैधता की होगी जांच फिलहाल रोक से इनकार

विज्ञापन

New Delhi: उच्चतम न्यायालय ने बुधवार को संशोधित नागरिकता कानून की संवैधानिक वैधता की जांच करने का फैसला किया है. हालांकि उसने इस कानून के क्रियान्वयन पर रोक लगाने से इनकार कर दिया है.

इस कानून के तहत पाकिस्तान, बांग्लादेश और अफगानिस्तान से भारत आने वाले, चुनिंदा वर्ग के शरणार्थियों को नागरिकता देने का प्रावधान है.

इसे भी पढ़ेंःपाकिस्तान के हिंदू और सिख संगठनों ने CAA को नकारा, कहा- सांप्रदायिकता के आधार पर बांट रहा भारत

advt

59 याचिकाओं पर केंद्र को नोटिस

प्रधान न्यायाधीश एस.ए. बोबड़े, न्यायमूर्ति बी.आर. गवई और न्यायमूर्ति सूर्यकांत की पीठ ने इंडियन यूनियन मुस्लिम लीग (आइयूएमएल), कांग्रेस नेता जयराम रमेश और अन्य की याचिकाओं पर सुनवाई की तारीख 22 जनवरी 2020 तय की. बता दें कि नागरिकता संशोधन एक्ट (CAA) के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट में जो 59 याचिकाएं दायर की गई हैं.

उच्चतम न्यायालय ने संशोधित नागरिकता कानून की संवैधानिक वैधता को चुनौती देने वाली मुख्य याचिका और कानून के क्रियान्वयन पर रोक लगाने की मांग करने वाली कुल 59 याचिकाओं पर केंद्र को नोटिस जारी किया है.
सुप्रीम कोर्ट ने इस निवेदन पर गौर किया कि संशोधित नागरिकता कानून के बारे में नागरिकों के बीच भ्रम की स्थिति है.

इसे भी पढ़ेंःउन्नाव केस में क्या CBI का रवैया आरोपी भाजपा विधायक को बचाने वाला था!

स्टे से सुप्रीम कोर्ट का इनकार

पीठ ने केंद्र की ओर से पेश अटॉर्नी जनरल से कहा कि जनता को ऑडियो-विजुअल माध्यम से कानून के बारे में जागरूक करने के बारे में विचार करें. सुनवाई के दौरान अटॉर्नी जनरल ने कहा कि एक्ट पर स्टे लगाने के लिए जो दलील दी जा रही है, वह एक्ट को चैलेंज करने के समान है. ऐसे में एक्ट पर किसी तरह का स्टे ना लगाया जाए.

adv

सुप्रीम कोर्ट ने इस कानून पर फिलहाल रोक लगाने से इनकार कर दिया है. गौरतलब है कि नागरिकता संशोधन कानून का देशभर में विरोध हो रहा है.

इसे भी पढ़ेंःसीलमपुर हिंसाः पुलिस ने छह लोगों को किया गिरफ्तार, उत्तर पूर्व जिले में धारा 144 लागू

advt
Advertisement

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button