JharkhandLead NewsRanchi

डैम में डूबते बच्चे की बचायी जान, मिला इनाम

  • डैम में डूब गये बच्चे की जान लौटानेवाले एनडीआरएफ के कर्मियों को किया गया पुरस्कृत

Ranchi : राजधानी रांची के कांके डैम में छठ पूजा के दौरान 21 नवंबर को एक 8 वर्षीय बच्चे आदित्य लोहरा की जान एनडीआरएफ के कर्मियों ने बचायी थी. छठ पूजा की समाप्ति पर जब एनडीआरएफ की टीम वापस अपने कैंप की ओर जा रही थी तभी उन्हें किसी बच्चे के डूबने की खबर मिली थी.

एनडीआरएफ की टीम बिना समय गंवाये तुरंत डैम पर पहुंची. टीम के तीन गोताखोर कार्तिक मांझी, अपन घोष और मुख्य आरक्षक नीरज कुमार डैम में कूद पड़े और कड़ी मेहनत के बाद कुछ ही समय में इस बच्चे को डैम की गहराई से ढूंढ़ निकाला.

वे उसे लेकर किनारे आये. जब तक बच्चे को बाहर लाया गया तब तक वह बेहोश हो चुका था और उसकी नब्ज और सांसें रुकी हुईं थीं. उसकी हालत को देख कर एनडीआरएफ कर्मियों ने हौसला नहीं खोया और सबसे पहले उन्होंने बच्चे के पेट से पानी निकाला और फिर सीपीआर का सहारा लिया.

बच्चे की सांसें चलने लगीं. उसे तुरंत एनडीआरएफ की गाड़ी में ही नजदीकी अस्पताल सीसीएल गांधीनगर पहुंचाया गया, जहां से उसे रिम्स रेफर कर दिया गया.

इसे भी पढ़ें : झारखंड सरकार किसानों से खरीदेगी गोबर, बढ़ेगी आमदनी, मिलेगा रोजगार

एनडीआरएफ महानिदेशक एसएन प्रधान ने किया सम्मानित

अंततः बच्चे की जान बच गयी. बच्चे का इलाज कर रहे डॉक्टर ने बताया था कि एनडीआरएफ कर्मियों द्वारा ही बच्चे को बचा लिया गया. वहां पर मौजूद स्थानीय लोगों एवं स्थानीय प्रशासन के साथ-साथ सोशल मीडिया और अन्य मीडिया में भी एनडीआरएफ के कार्य की प्रशंसा की गयी थी.

इस साहसिक और मानवीय कार्य की सराहना करते हुए एनडीआरएफ के महानिदेशक एसएन प्रधान ने तीनों कर्मियों को महानिदेशक पदक के साथ-साथ प्रशस्ति पत्र प्रदान किया है. साथ ही साथ एनडीआरएफ बटालियन के कमांडेंट विजय सिन्हा ने भी इस ऑपरेशन में भाग लेनेवाले कर्मियों को पुरस्कृत किया है.

श्री सिन्हा ने बताया कि हमारे बचाव कर्मी किसी भी परिस्थिति में त्वरित कार्यवाही करने के लिए प्रशिक्षित होते हैं. उन्होंने बिना समय गंवाये बिना किसी खास सुरक्षा इंतजाम किये डैम में छलांग लगा कर बच्चे की जान बचायी जिसकी जितनी प्रशंसा की जाये उतनी कम है.

इसे भी पढ़ें : महिला की मौत के बाद मायके वालों ने पति समेत ससुरालवालों पर हत्या का किया केस

Advertisement

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: