न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

सऊदी अरामको  रिलांयस इंडस्ट्रीज के पेट्रोकेमिकल्स बिजनस में  25 प्रतिशत  हिस्सेदारी खरीदेगी!

विश्व की सबसे अधिक मुनाफा कमाने वाली  सऊदी कंपनी अरामको और भारत की सबसे बड़ी कंपनी रिलांयस इंडस्ट्रीज लिमिटेड  के बीच बड़ी डील किये जाने की खबर है.  

17

NewDelhi : विश्व की सबसे अधिक मुनाफा कमाने वाली  सऊदी कंपनी अरामको और भारत की सबसे बड़ी कंपनी रिलांयस इंडस्ट्रीज लिमिटेड  के बीच बड़ी डील किये जाने की खबर है.  सूत्रों के अनुसार  कंपनी अरामको द्वारा रिलांयस इंडस्ट्रीज की रिफाइनिंग और पेट्रोकेमिकल्स बिजनस का 25 प्रतिशत तक हिस्सा खरीदने के लिए दोनों के बीच गंभीर बातचीत चल रही है.  बता दें कि सऊदी अरब की सऊदी अरामको विश्व की सबसे बड़ी तेल निर्यातक कंपनी है.  कहा जा रहा है उसने रिलायंस में चार महीने पहले रुचि दिखाई थी.  सऊदी के क्राउन प्रिंस मोहम्मद बिन सलमान के फरवरी में हुए भारत दौरे पर उन्होंने सबसे अमीर भारतीय मुकेश अंबानी से मुलाकात की थी.  इसके बाद से इस डील पर बातचीत चल रही है.

इस मामले के जानकारों ने बताया कि  जून के आसपास वेलुएशन पर समझौता होने की संभावना है.  थोड़ी हिस्सेदारी बेचने से  रिलांयस के पास 10-15 अरब डॉलर आ सकते हैं. रिलांयस इंडस्ट्रीज का रिफाइनिंग और पेट्रोकेमिकल्स बिजनस लगभग 55-60 अरब डॉलर का है.  मंगलवार को कंपनी का मार्केट कैप 122 अरब डॉलर यानी 8.5 लाख करोड़ रुपये पहुंच गया था.

इसे भी पढ़ें- मोदी लहर खत्म? क्यों पोलस्टर्स बीजेपी के लिए भविष्यवाणियां कर रहे हैं…

hosp3

 इशा  अंबानी के प्री-वेडिंग फंक्शन में सऊदी अरब के ऑइल मिनिस्टर पहुंचे थे

दिसंबर में उदयपुर में मुकेश अंबानी की बेटी इशा के प्री-वेडिंग फंक्शन में सऊदी अरब के ऑइल मिनिस्टर खालिद अल फालिह शामिल हुए थे.  इस दौरान उन्होंने सार्वजनिक रूप से भारत की रिफाइनिंग क्षमता को बढ़ाने की दिशा में रिलायंस सहित अन्य कंपनियों के साथ अरामको केजॉइंट वेंचर शुरू करने की रुचि जाहिर की थी. बता दें कि भारत में घरेलू कच्चे तेल का उपभोग 2040 तक प्रति दिन एक करोड़ बैरल तक पहुंचने का अनुमान है.  अमेरिका और चीन के बाद भारत कच्चे तेल का सबसे बड़ा कन्ज्यूमर है, जहां हर दिन 40 लाख बैरल क्रूड का इस्तेमाल होता है.

इसे भी पढ़ें पिछड़ा वर्ग का होने की वजह से कांग्रेस मुझे गालियां दे रही है, चोर कह रही है : मोदी

गोल्डमैन सैक्स ने इस डील का सुझाव दिया था

सूत्रों के अनुसार इन्वेस्टमेंट बैंकर गोल्डमैन सैक्स ने इस डील का सुझाव दिया था.  वित्तीय क्षेत्र के एक जानकार ने कहा,  आरआईएल ने बहुत विकास किया है, ऊर्जा से लेकर रिटेल और रिटेल से लेकर टेलिकॉम तक.  इसे वर्गीकृत करने की जरूरत ह.  इसके कुछ वर्टिकल द्वारा और उत्पाद पैदा करना सही है.

यह फंड बढ़ाने में मदद करेगा और शेयर होल्डर के वैल्यू को बढ़ाएगा.  आरआईएल ने टेलिकॉम क्षेत्र में हाई वोल्टेज एंट्री में रिलायंस जियो को पैसा दिया है जिसके कारण कुल कर्ज तीन लाख करोड़ हो गया है. कर्ज कम करने की प्रक्रिया जियो को विस्तार की योजना की तरफ जाने की छूट देगा.  वित्तीय मामलों के जानकार ने कहा, यह समझदार मार्केट पॉलिसी है.

इसे भी पढ़ें राहुल ने कहा, मोदी सबसे बड़े देश विरोधी, देश को बांट दिया, लोग आपस में लड़ रहे हैं

 

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

You might also like
%d bloggers like this: