न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

सऊदी अरब की मिसाइल के निशाने पर आ गयी स्कूली बस, 29 बच्चों समेत 50 की मौत

यमन में सऊदी अरब गठबंधन सेना के मिसाइल हमले की चपेट में एक स्कूल बस के आ जाने से 29 बच्चों सहित  लगभग 50 लोग मारे गये

234

Sanaa  : यमन में सऊदी अरब गठबंधन सेना के मिसाइल हमले की चपेट में एक स्कूल बस के आ जाने से 29 बच्चों सहित  लगभग 50 लोग मारे गये. हमले  में 77 लोग घायल भी हुए हैं, जिनमें 30 बच्चे शामिल हैं. घटना गुरुवार की है. इस संबंध में हूती विद्रोही नियंत्रित स्वास्थ्य मंत्रालय ने पत्रकारों को बताया कि मारे गये बच्चे सादाह इलाके में घूमने निकले थे.

हमले के समय बस बाजार में पानी और नाश्ता लेने के लिए ठहरी हुई थी. बता दें कि इंटरनेशनल रेड क्रॉस कमेटी (आईआरसीसी) की प्रवक्ता मिरेला होदेब ने 15 साल से कम उम्र के 29 बच्चों के शव मिलने की जानकारी दी है.

इसे भी पढ़ें- सरकार के दबाव में न झुकें मीडिया मालिक, एडिटर्स गिल्ड ने की अपील

hosp3

मिसाइल का निशाना बस पर सवार बच्चे नहीं थे

अपनी सफाई पेश करते हुए सऊदी गठबंधन सेना के प्रवक्ता कर्नल तुर्की अल-मलिकी ने कहा कि मिसाइल का निशाना बस पर सवार बच्चे नहीं थे. टारगेट तय करते समय हम मानक के तहत काम करते हैं. उन्होंने हूती विद्रोहियों पर आतंकियों को बचाने के लिए बच्चों का इस्तेमाल करने के आरोप लगाये. इस क्रम में सऊदी प्रेस एजेंसी अल मलिकी की ओर से कहा गया है कि सादाह प्रांत में यह एक वैध सैन्य कार्रवाई थी, जिसका मकसद एक दिन पहले जिजान में आम लोगों को निशाना बनाने वालों से बदला लेना था.

इसे भी पढ़ें- राज्यपाल बोलीं- सिर्फ विश्व आदिवासी दिवस के दिन समारोह आयोजित कर साल भर भूल जाने से विकास नहीं होगा

यमन में चल रही जंग में 10 हजार लोग मारे जा चुके हैं

यमन में 2015 की शुरुआत से से छिड़ी  जंग में  हूती विद्रोहियों (शिया) के कब्जे में पश्चिमी यमन का ज्यादातर हिस्सा है. जान लें कि राष्ट्रपति अब्द्राबूह मंसूर को देश छोड़ने के लिए विवश कर दिया गया.  बता दें कि हूती विद्रोहियों को खदाड़ने के लिए सऊदी अरब, संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) और सात अन्य अरब देशों की सेनाएं संयुक्त अभियान चला रही हैं. संयुक्त राष्ट्र के अनुसार यमन में चल रही जंग में अब तक 10 हजार लोग मारे जा चुके हैं, जिसमें दो तिहाई सिविलियंस है. 55 हजार से ज्यादा लोग जख्मी हुए हैं.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

You might also like
%d bloggers like this: