JamshedpurJharkhandJharkhand Politics

Jamshedpur Politics: भाजपा के प्रदर्शन पर सरयू राय की पार्टी ने उठाये सवाल, कहा- दबाव बनाने की मंशा तो नहीं

Jamshedpur: भाजमो जमशेदपुर महानगर के जिलाध्यक्ष सुबोध श्रीवास्तव ने भाजपा जमशेदपुर महानगर के जेएनएसी कार्यालय घेराव कार्यक्रम पर सवाल उठाये हैं और पूछा है क‍ि आख‍िर कौन सी मजबूरी आन पड़ी क‍ि प्रदर्शन को मजबूर होना पड़ा.
सुबोध ने कहा क‍ि विगत 35 वर्षों से जेएनएसी जो करती आ रही है उसमें क्या ऐसा परिवर्तन गत दो वर्ष में हो गया है जिसका विरोध भाजपा महानगर को करना पड़ रहा है. पार्टी को यह बताना चाहिये नहीं तो माना जाएगा कि विगत 25 वर्षों में पार्टी के नेताओं और कार्यकर्ताओं की ओर से की गई मनमानी अब नहीं चल रही है इसलिये जेएनएसी पर दबाव बनाना चाह रहे हैं. उन्‍होंने कहा क‍ि दो-सवा दो साल पहले झारखंड में सरकार बदली, जमशेदपुर पूर्वी के प्रतिनिधि को जनता ने बदल दिया, पर पूर्ववर्ती सरकार ने जिन अधिकारियों को जेएनएसी के विशेष पदाधिकारी एवं अन्य महत्व के पदों पर नियुक्त किया था वे नहीं बदले गये हैं. सबके सब वही हैं. क्या भाजपा महानगर भाजपा को लगता है कि ठेकेदारी में उनकी धौंस पहले जैसी नहीं चल रही है.
ये लगाये आरोप
सुबोध ने कहा क‍ि भाजपा जमशेदपुर महानगर से जुड़े दबंगों ने जमशेदपुर अक्षेस क्षेत्र में जितना अवैध दखल किया है, अवैध निर्माण किया है, जहां- तहां खटाल खोल दिया है, जहां अतिक्रमण कर लिया है, वह सबका सब वैसे ही है. हां, इतना अवश्य हुआ है कि अब भाजपा महानगर के मठाधीशों की दबंगई नहीं चल रही है. वे नया क्षेत्र कब्‍जा करने की कोशिश करते हैं तो रोक द‍िया जाता है. शायद यही मलाल उन्हें है जिस कारण से वे जेएनएसी का घेराव कर रहे हैं.
सरयू राय से है ये श‍िकायत
सुबोध श्रीवास्‍तव ने कहा क‍ि हमारी शिकायत अपने वर्तमान जनप्रतिनिधि सरयू राय से है कि यद्यपि उनके कारण जमशेदपुर से राजनीतिक दबंगई और ठेला-खोमचा वालों से अवैध वसूली पर तो लगाम लग गई है, परंतु अभी भी सरकारी और टाटा स्टील की परिसंपत्तियों पर से राजनीतिक रसूख़ वालों का अवैध क़ब्ज़ा बरकरार है. उनके द्वारा विधानसभा में किये गये सवालों के उत्तर में सरकार ने जो निर्देश दिया है उसका पालन भी ज़िला प्रशासन और जेएनएसी ने काफ़ी समय बीत जाने के बावजूद अभी तक नहीं किया है. विधायक पूर्वी को इस बारे में शीघ्र कार्रवाई करनी चाहिये. जमशेदपुर पूर्वी की जनता चाहती है कि दबंगई और अवैध वसूली के प्रतीक के रूप में कुख्यात तानाशाही मनोवृत्ति को जमशेदपुर पूर्वी में पूरी तरह कुचल दिया जाय. इनके भद्दे अवशेषों को समाप्त कर देना हमारी चाहत है. विधायक पूर्वी जनभावना का सम्मान करते हुए यह काम यथाशीघ्र करें.

ये भी पढ़ें-Saraikela : ईचागढ़ में अवैध बालू उठाव के खिलाफ कार्रवाई, 14 हाइवा और चार ट्रैक्टर जब्त, कारोबारियों में हड़कंप

Related Articles

Back to top button