JharkhandJharkhand PoliticsRanchi

सरयू राय ने रवि केजरीवाल को मुखौटा कंपनियों का सरगना बताया, निशिकांत बोले – आपके पास झामुमो का जो काला चिट्ठा है, उसे भी दीजिये

Jamshedpur : झारखंड में जारी भारी राजनीतिक उथल-पुथल के बीच आइएएस अधिकारी पूजा सिंघल की गिरफ्तारी और भारी मात्रा में काले धन की बरामदगी के सिलसिले में झामुमो के पूर्व केंद्रीय कोषाध्यक्ष रवि केजरीवाल को प्रवर्तन निदेशालय ने पूछताछ के लिए बुलाया था. गोड्डा से भाजपा सांसद डॉ निशिकांत दुबे इस मामलों में सबसे ज्यादा मुखर हैं. कई बार तो सांसद के ट्वीट से ही मीडिया को जानकारी मिलती है. रवि केजरीवाल को इडी द्वारा तलब किये जाने के बाद सोमवार सुबह निशिकांत दुबे ने एक ट्वीट किया. उन्होंने लिखा कि पत्रकारों से मिली जानकारी के अनुसार रवि केजरीवाल जी ने जिन कंपनियों का ज़िक्र किया है, उसके बैंक अकाउंट के अनुसार लगभग 1500 करोड़ इन कंपनियों में जमा हैं. जानकारी के अनुसार कंपनी कोई व्यापार नहीं करती, केवल काले को सफेद करती है. सांसद के ट्वीट के बाद सरयू राय ने दो ट्वीट किये. राय ने अपने पहले ट्वीट में रवि केजरीवाल को मुखौटा कंपनियों का सरगना बताते हुए लिखा कि जब जुलाई 2013 में हेमंत सोरेन मुख्यमंत्री बने, तो मैंने इन कंपनियों की लंबी सूची भाजपा ऑफिस में प्रेस कांफ्रेंस कर उजागर की. सीबीआई को भेजी औऱ अख़बारों ने इसे प्रमुखता से छापा. राय के अनुसार ईडी ने यह सूची सीबीआई से ली है. सरयू राय ने यह भी लिखा है कि तब रवि ने उन्हें भरपूर गालियां दी थी.

ram janam hospital
Catalyst IAS

The Royal’s
Sanjeevani
Pitambara
Pushpanjali

अपने दूसरे ट्वीट में सरयू राय ने लिखा है कि इन मुखौटा कंपनियों की सूची लगाकर झारखंड हाईकोर्ट के वकील राजीव कुमार ने पीआईएल किया. बोकारो के दीवान इंद्रनील (अब स्वर्गीय) याचिकाकर्ता थे. अधिवक्ता राजीव कुमार ने दुबारा पीआईएल किया है. आदेशानुसार ईडी इसकी जांच कर रही है. मामले का राजनीतिकरण न हो, असली गुनहगार सामने आयें. सरयू के इस ट्वीट पर प्रतिक्रिया देते हुए निशिकांत दुबे ने अपने ट्वीट में लिखा है – राजनीतिकरण कैसे होगा. आपने ही जिस व्यक्ति को 2013 में भ्रष्ट बताकर जांच की बात की थी, वह अब देर आये- दुरुस्त आये की तरह आगे बढ़ रहे हैं. निशिकांत ने सरयू राय से कहा है – आपके पास झामुमो का जो काला चिट्ठा है, उसको भी दीजिये. सर्वनाशे समुत्पन्ने अर्ध: त्याजति पंडिता: की तरह झारखंड को बचाने के लिए खड़े हो जाइये. ट्विटर पर लोग इन दोनों के ट्वीट पर जमकर कमेंट कर रहे है.

इसे भी पढ़ें – पल्स हॉस्पिटल: तीन दिन बीत गए, नहीं मिली जांच रिपोर्ट, अपर समाहर्ता को पत्र लिखकर डीसी ने कहा- 48 घंटे के अंदर भेजें रिपोर्ट

Related Articles

Back to top button