न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

विधायक खरीद फरोख्त मामले में अब सरयू राय ने भी की मांग- सरकार कराये इस फर्जीवाड़े की जांच

जेवीएम के साथ झामुमो और कांग्रेस भी भाजपा पर हमलावर हैं

1,289

Ranchi : जेवीएम के छह विधायकों को 11 करोड़ रुपये में खरीद-फरोख्त मामले की चिट्ठी सार्वजनिक होने के बाद विपक्षी पार्टियां सरकार से जांच कराने की मांग कर रही है. जेवीएम के साथ झामुमो व कांग्रेस सरकार व भाजपा पर हमलावर है. इस बीच सरकार के मंत्री सरयू राय ने भी इस मामले की जांच की मांग कर दी है. इससे सरकार की परेशानी बढ़ सकती है.
चिट्ठी विवाद में अब रघुवर सरकार के कैबिनेट मंत्री सरयू राय भी कूद पड़े हैं. जमशेदपुर में पत्रकारों से बात करते हुए उन्होंने कहा है कि जेवीएम के 6 विधायकों की खरीद- फरोख्त मामले की जांच सरकार को करवानी चाहिये. उल्लेखनीय है कि भाजपा सांसद रवींद्र राय चिट्ठी में नकली हस्ताक्षर की बात कर रहे हैं. इस पर सरयू राय ने अपनी राय देते हुए कहा कि सरकार को जल्द इस मामले में हस्तक्षेप करना चाहिये और इस फर्जीवाड़े की जांच करा लेनी चाहिये. इसके अलावा सरयू राय ने कहा है कि विधानसभा अध्यक्ष को इस मामले में विशेषाधिकार प्राप्त है.

बाबूलाल ने बीजेपी की खुली चुनौती स्वीकार की है

चिट्ठी को लेकर जेवीएम और बीजेपी अब आमने – सामने हैं. बाबूलाल मरांडी का कहना है कि खरीद- फरोख्त की जांच बीजेपी करवाने से आखिर कतरा क्यों रही है. बाबूलाल ने बीजेपी की खुली चुनौती स्वीकार की है और मामले की जांच सीबीआई से करवाने की मांग की है.
तो बीजेपी इस बात को झूठलाने में लगी है और बाबूलाल को 7 दिनों की मोहलत दे डाली है कि चिट्ठी की बात को सिद्ध करें. नहीं तो बीजेपी कोर्ट जायेगी और बाबूलाल पर मानहानि का मुकदमा भी दर्ज करायेगी. हालांकि चिट्ठी का मामला सामने आते ही पूरा विपक्ष एकजुट हो गय़ा है. चिट्ठी के मामले पर सीबीआई जांच की मांग कर रहा है.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Comments are closed.

%d bloggers like this: