ChaibasaJharkhand

राम मंदिर के भूमि पूजन में सरना स्थल या देशाऊली की मिट्टी उठाने नहीं दी जायेगीः हो महासभा

♦विहिप संगठन मंत्री केशव राजू के बयान की आदिवासी संगठनों ने की निंदा

Chaibasa : राम मंदिर के भूमि पूजन में देश के प्रमुख धार्मिक स्थलों से मिटी लाने संबंधी विहिप संगठन मंत्री केशव राजू के बयान की आदिवासी संगठनों ने निंदा की. चाईबासा के हरिगुटू स्थित महासभा सभागार में बैठक कर आदिवासी संगठनों ने सरना स्थल या देशाऊली से मिट्टी किसी भी कीमत पर नहीं उठाने देने की बात कही. बैठक में साफ कहा गया कि आदिवासी हिन्दू नहीं हैं. बैठक में बाहरी धार्मिक और सांस्कृतिक अतिक्रमणों से बचाने के लिए हो समाज में जागरुकता अभियान चलाने पर सहमति बनी.

आदिवासी हो समाज युवा महासभा, मुंडा मानकी संघ और आदिवासी हो समाज सेवानिवृत्त संगठन के संयुक्त तत्वावधान में हरिगुटू में बैठक की गयी. इस बैठक की अध्यक्षता हो महासभा के अध्यक्ष देवेन्द्र नाथ चंपिया ने की. बैठक में 5 अगस्त को अयोध्या में राम मंदिर के लिए प्रस्तावित भूमि पूजन में झारखंड व बिहार सहित देश भर के प्रमुख तीर्थस्थलों और सरना स्थलों या देशाऊली से मिट्टी उठाये जाने के बायन की निंदा की गयी. बैठक में कहा गया कि आदिवासी धार्मिक, सांस्कृतिक भावना से छेड़छाड़ बर्दाश्त नहीं की जायेगा. हिन्दुत्व मानसिकता को आदिवासियों पर थोपने नहीं दिया जायेगा.

इसे भी पढ़ें – CoronaUpdate: संक्रमण के कारण दो और लोगों की गयी जान, राज्य में मौत का आंकड़ा हुआ 66

आदिवासियों को सांस्कृतिक अतिक्रमणों से बचाने के लिए चलाया जायेगा जागरुकता अभियान

आदिवासी समाज को बाहरी धार्मिक और सांस्कृतिक अतिक्रमणों से बचाने के लिए आदिवासी हो समाज महासभा अगले दो दिनों में मुंडा मानकी और दियुरियों संग गांव-गांव में जाकर इसके प्रति जागरुकता अभियान चलायेगी. साथ ही बैठक में निर्णय लिया गया कि बिंगतोपंग, दमादिरी में देशाऊली और शिवलिंग को लेकर उठे विवाद को सुलझाने के लिए प्रतिनिधि मंडल जायेगा. कोट्सोना, मररूजरोम में मंदिर निर्माण और पंडितों के अवैध रूप से पूजा पाठ को लेकर ग्रामीणों से सम्पर्क स्थापित कर मामले को सुलझाने के लिए सामाजिक प्रयास किया जायेगा.

इस आपातकालीन बैठक में मुख्य रूप से युवा महासभा कार्यकारी अध्यक्ष बिर सिंह बिरूली, सेवानिवृत्त संगठन अध्यक्ष सुखलाल पूर्ती, उपाध्यक्ष बागुन बोदरा, पूर्व महासचिव मुकेश बिरुवा, चैतन्य कूंकल, महासचिव सोमा कोड़ा, गब्बर सिंह हेंब्रम, प्रकाश पूर्ती, रामबली सिंकू, सेलाय हेंब्रम और अन्य लोग उपस्थित थे.

इसे भी पढ़ें – गिरिडीहः कोरोना की चपेट में नवजीवन नर्सिंग होम के डॉक्टर समेत छह स्टाफ, बैंककर्मी भी संक्रमित

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Related Articles

Back to top button