ChaibasaDharm-JyotishJamshedpurJharkhand

Jamshedpur News : बाबा बघेल सिंह म्यूजियम के निदेशक सरदार सुरजीत सिंह पहुंचे जमशेदपुर, कहा-गुरुनानक देव जी के जीवन से सीख लेने की जरूरत

Jamshedpur : नई दिल्ली स्थित गुरुद्वारा बांग्ला साहिब म्यूजिम के निदेशक सरदार सुरजीत सिंह अपने दो दिवसीय दौरे पर जमशेदपुर पहुंचे. यहां बिष्टुपुर स्थित होटल अलकोर में मीडिया से मुखातिब होते हुए उन्होंने सिख धर्म की विशेषताओं पर प्रकाश डाला. उन्होंने जिले के पूर्व सिविल सर्जन डॉ स्वर्ण सिंह की ओर से गुरुनानक देवजी की पहली उदासी पर बनी लघु फिल्म का लोकार्पण भी किया. इस मौके पर उन्होंने कहा कि यह लघु फिल्म सभी को देखनी चाहिए और गुरुनानक देवजी की जीवनी से सीख लेनी चाहिए.

उन्होंने कहा क‍ि समाज में उन दिनों फैल रहे भेद-भाव को दूर करने के लिए गुरुनानक देव जी ने चारों वर्णों को एक वर्ण बनाया था. इससे इंसान के भीतर छुपे भेद-भाव दूर होने लगे. उन्होंने कहा क‍ि सिख समाज में ब्राम्हण, क्षत्रिय, वैश्य और शूद्र का समावेश है, जो सभी को अपने क्रियाकालापों के माध्यम से अपने अंदर समाहित किये हुए हैं. आज की पीढ़ी को इसी से सीख लेने की जरुरत है ताकि समाज के इन दूरियों को मिटाकर हम सभी अपना धार्मिक और मानसिक विकास कर सके. इस मौके पर झारखंड प्रदेश गुरुद्वारा प्रबंधक कमिटी के अध्यक्ष सरदार शैलेन्द्र सिंह, रंगरेटा महासभा के अध्यक्ष मंजित सिंह गिल समेत समाज के अन्य जाने-माने लोगों ने भी अपने विचार रखें.

ये भी पढ़ें- Jamshedpur Politics : राष्ट्रपति पद की प्रत्याशी द्रौपदी मुर्मू के खिलाफ डॉ अजय कुमार का बयान शर्मनाक, भाजपा नेता गणेश माहली ने कहा- माफी मांगें नहीं तो होगा उग्र आंदोलन

Sanjeevani

Related Articles

Back to top button