JamshedpurJharkhandJharkhand PanchayatSaraikela

Saraikela Panchayat Election : जिले के पांच प्रखंडों में मतदान मंगलवार को, 3.85 लाख मतदाता करेंगे 1,318 प्रत्याशियों के भाग्य का फैसला

Jamshedpur : सरायेकला-खरसावां जिले में तीसरे चरण के मतदान की तैयारियां पूरी हो चुकी है. इसके तहत सरायकेला अनुमंडल के तीन प्रखंडों में मतदान होगा. इसमें तीनों प्रखंड के 3.85 लाख मतदाता 1,318 प्रत्याशियों के भाग्य का फैसला करेंगे. मतदान के सफल संचालन को लेकर सोमवार को मतदानकर्मियों को मतदान केंद्रों के लिये रवाना किया गया. इससे पहले सरायकेला स्थित काशीसाहू कॉलेज में जिला निर्वाचन पदाधिकारी सह उपायुक्त अरवा राजकमल एवं जिले के एसपी प्रकाश आनंद ने मतदानकर्मियों एवं सुरक्षाकर्मियों को कई आवश्यक दिशा-निर्देश दिये. उन्होंने बताया कि मतगणना स्थल पर 4008 कर्मियों के अलावा 5 हजार सुरक्षाकर्मियों को रवाना किया गया है. ताकि शांतिपूर्ण माहौल में निष्पक्ष ढ़ंग से मतदान कराया जा सके.

11 जिला परिषद समेत अन्य पदों के लिये होगा चुनाव

इस दौरान मतदाता 11 जिला परिषद के अलावा 101 पंचायत समिति सदस्य, 79 मुखिया और 1002 वार्ड सदस्यों के चुनाव को लेकर मतदान करेंगे. वहीं चुनावी मैदान में जिला परिषद के लिए 69, पंचायत समिति सदस्य के लिए 262, मुखिया के लिए 404 और वार्ड सदस्य के लिए 553 प्रत्याशी अपनी किस्मत आजमा रहे हैं.

मतदान केंद्र पर रहेंगे चार पदाधिकारी

MDLM
Sanjeevani

मतदान को लेकर तीनों प्रखंडों में कुल 1002 मतदान केंद्र बनाये गये हैं. इसके लिए 617 भवन का उपयोग किया जा रहा है. प्रशासन की ओर से हर मतदान केंद्र में एक पीठासीन पदाधिकारी के अलावा तीन मतदान पदाधिकारी की प्रतिनियुक्ति की गयी है. इन्हें मतदान केंद्रों तक ले जाने और वहां से वापस लाने के लिये करीब 400 वाहनों का प्रयोग किया जा रहा है. साथ ही, 500 से अधिक मतदाता वाले मतदान केंद्रों में दो बड़े मतपेटी एवं एक मध्यम मतपेटी तथा 500 से कम मतदाता वाले मतदान केंद्रों में दो बड़ी मतपेटी आवंटित की गयी है.

भयमुक्त होकर करें मतदान : उपायुक्त

इस दौरान उपायुक्त अरवा राजकमल ने मतदाताओं से भयमुक्त होकर मतदान करने की अपील की है. ताकि केंद्र और राज्य सरकार की कल्याणकारी योजनाएं धरातल तक पहुंच सके.

सुरक्षा व्यवस्था रहेगी चाक-चौबंद

दूसरी ओर जिले के एसपी आनंद प्रकाश ने बताया कि मतदान को लेकर तीनों प्रखंडों में सुरक्षा व्यवस्था पूरी तरह से चाक-चौबंद रहेगी. इसे लेकर क्षेत्र में जिला एवं अर्धसैनिक बलों के करीब पांच हजार सुरक्षाकर्मियों को तैनात किया गया है. साथ ही नक्सल प्रभावित क्षेत्रों में पुलिस की खास चौकसी रहेगी. ताकि किसी भी परिस्थिति से निपटा जा सके.

ये भी पढ़ें- पंचायत चुनाव 2022 : दूसरे चरण की मतगणना जारी, दांव पर ढुल्लू, जलेश्वर, मथुरा और फूलचंद की साख

Related Articles

Back to top button