न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

सरायकेला-खरसावांः प्रमाणिक दस्ते ने विस्फोट कर उड़ाया था बीजेपी कार्यालय

कुख्यात नक्सली महाराज प्रमाणिक पर है 10 लाख का इनाम

858

Jamshedpur: झारखंड में लोकसभा चुनाव के दौरान जहां नक्सली किसी भी घटना का अंजाम देकर दहशत फैलाने की योजना बना रहे हैं.

वहीं नक्सलियों ने दहशत फैलाने के उद्देश्य से पलामू और खरसावां में बीजेपी कार्यालय को बम लगाकर उड़ा दिया था. खरसावां थाना क्षेत्र में 2 मई की देर रात बीजेपी का चुनावी दफ्तर को उड़ाया गया था.

Trade Friends

इसे भी पढ़ेंःमुजफ्फरपुर शेल्टर होम मामलाः ब्रजेश ठाकुर और उनके साथियों ने 11 लड़कियों की कथित रूप से की हत्या: CBI

इस मामले में पुलिस की जांच में पता चला है कि 10 लाख के इनामी कुख्यात नक्सली महाराज प्रमाणिक दस्ते के द्वारा घटना का अंजाम दिया गया है.

देर रात दिया गया था घटना को अंजाम

सरायकेला-खरसावां स्थित बीजेपी कार्यालय को गुरुवार की देर रात करीब 12 बजे विस्फोट कर उड़ा दिया गया था. विस्फोट में कार्यालय की दीवार गिर गई.

इधर घटना की सूचना मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंची और मामले की छानबीन में जुट गयी थी. पुलिस ने घटनास्थल से नक्सलियों द्वारा छोड़ा गया पर्चा भी बरामद किया था.

सरायकेला-खरसांवा और खूंटी के सीमावर्ती इलाके में सक्रिय है प्रमाणिक का दस्ता

Related Posts

#EconomicSlowDown : टाटा मोटर्स में जारी रहेगा ब्लॉक क्लोजर, टाटा स्टील से 16 कर्मियों की होगी छुट्टी

मांग में सुधार नहीं, साल के आखिरी दो महीने में 20 दिन और होगा क्लोजर, टाटा स्टील में सरप्लस के नाम पर 16 कर्मचारियों की होगी छुट्टी

WH MART 1

हाल के दिनों में महाराज प्रमाणिक की सक्रियता रांची के तमाड़, बुंडू, दशम फॉल इलाके में बढ़ी है. वहीं सरायकेला-खरसांवा और खूंटी के सीमावर्ती इलाके में भी महाराज के दस्ते की सक्रिय है.

इसे भी पढ़ेंःराफेल डील : गोपनीय दस्तावेज सार्वजनिक करने से देश पर खतरा , SC में केंद्र सरकार का जवाबी हलफनामा

महाराज प्रमाणिक नक्सलियों के जोनल कमेटी का सदस्य है. झारखंड सरकार ने महाराज प्रमाणिक पर 10 लाख का इनाम भी रखा है.

दहशत फैलाने के उद्देश्य पोस्टरबाजी

25 मार्च को बरियातू थाना क्षेत्र में कई जगहों पर नक्सली पोस्टर लगाये गये थे. मामले की जांच के दौरान पता चला कि महाराज प्रमाणिक ने दो युवकों को पोस्टर लगाने के लिए भेजा था.

बुंडू में भी हुई पोस्टरबाजी के मामले में महाराजा प्रमाणिक का ही हाथ सामने आया था. हालांकि इस मामले में पुलिस ने कार्रवाई करते हुए पोस्टर लगाने वाले युवक को गिरफ्तार कर जेल भी भेज दिया था.

इसे भी पढ़ेंःप्रियंका गांधी का आरोपः अमेठी के ग्राम प्रधानों को बीजेपी 20-20 हजार दे रही रिश्वत

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

kohinoor_add

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like