West Bengal

सारदा चिटफंड : ईडी के दफ्तर पहुंचीं सांसद शताब्दी रॉय, अफसरों ने की पूछताछ

Kolkata: सारदा चिटफंड घोटाला मामले में बीरभूम से तृणमूल कांग्रेस की सांसद शताब्दी रॉय पूछताछ के लिए गुरुवार को प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) के सीजीओ कॉम्प्लेक्स स्थित दफ्तर पहुंचीं. शताब्दी रॉय पर आरोप है कि उन्होंने सारदा समूह के ब्रांड एंबेस्डर के तौर पर काम किया और समूह से 29 लाख रुपये लिये थे. इसी मामले में उनसे पूछताछ हो रही है. इसके लिए जुलाई के आखिरी सप्ताह में ईडी ने उनको नोटिस भेजा था. हालांकि गत 30 जुलाई को शताब्दी रॉय ने बयान जारी कर सारदा समूह से लिये गए रुपये को लौटाने की पेशकश की थी. उन्होंने ईडी को इसके लिए चिट्ठी लिखी थी और कहा था कि संसद सत्र खत्म होने के बाद वह जांच एजेंसी के अधिकारियों से मुलाकात करेंगी.

इसे भी पढ़ें – मिसालः माता-पिता ने 19 वर्षीय पुत्र का अंगदान किया

सात अगस्त को संसद सत्र का अवसान हुआ और गुरुवार को वह एजेंसी के दफ्तर पहुंची हैं. इसके पहले अभिनेता मिथुन चक्रवर्ती पर भी इसी तरह से चिटफंड कंपनी से रुपये लेने के आरोप लगे थे. वह भी ब्रांड एंबेस्डर के तौर पर चिटफंड समूह से जुड़े थे. जब सीबीआइ ने उन पर दबाव बनाना शुरू किया तब मिथुन ने भी कंपनी से लिये गये रुपये लौटा दिये थे. अब उसी राह पर शताब्दी चल पड़ी हैं. उन्होंने बताया कि सारदा समूह की एक कंपनी की वह ब्रांड एंबेसडर थीं. समूह के साथ उनका समझौता हुआ था. शताब्दी रॉय को 12 जुलाई को भी पूछताछ के लिए ईडी ने तलब किया था, लेकिन वह नहीं आयी थीं. उन्होंने संसद का सत्र चलने का कारण बताया था. उसके बाद उन्हें दोबारा नोटिस भेजा गया था.

advt

इसे भी पढ़ें – भाजपा से चार पार्षद लौटे, 14 हुई तृणमूल के पार्षदों की संख्या 

advt
Advertisement

Related Articles

Back to top button