न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

कोर्ट में पेशी के दौरान बोले विधायक संजीव सिंह- झरिया, सिंह मेंशन की परंपरागत सीट

781

Dhanbad: धनबाद जिले के बेहद ही हॉट सीट माने जाने वाले झरिया विधानसभा सीट पर एक बार फिर झरिया विधायक ने दावेदारी पेश की है.

कोर्ट में पेशी के दौरान मीडिया से बात करते हुए उन्होंने झरिया समेत सभी 81 सीटों पर बीजेपी की भारी जीत का दावा किया.

दरअसल, धनबाद के चर्चित कांग्रेस नेता सह पूर्व डिप्टी मेयर नीरज सिंह हत्याकांड मामले में पिछले कई महीनो से जेल में बंद झरिया विधायक संजीव सिंह सहित इस मामले के अन्य आरोपी कड़ी सुरक्षा में जिला एंव सत्र न्यायधीशा आलोक कुमार दुबे की अदालत में पेश हुए.

इसे भी पढ़ेंःधनबादः नीति आयोग उपाध्यक्ष ने विभिन्न परियोजना का किया निरीक्षण, धीमे पुनर्वास पर जताई चिंता

अदालत में पेशी के बाद संजीव सिंह ने मीडिया से बाते करते हुए कहा कि आगामी विधान सभा चुनाव में झरिया सीट के साथ-साथ राज्य की सभी 81सीटों पर भारतीय जनता पार्टी जीत दर्ज करेगी.

साथ ही संजीव सिंह ने यह भी दावा किया कि आज पूरे देश में ऐसा माहौल बन गया हैं कि भारतीय जनता पार्टी कही से भी चुनाव लड़े जीत पक्की है.

झरिया सिंह मेंशन की परंपरागत सीट

झरिया विधायक संजीव सिंह ने यह भी कहा की जनता के सहयोग से लोकसभा चुनाव में भाजपा पूर्ण बहुमत के साथ जीती है. जिससे केंद्र में एनडीए की दोबारा सरकार बनी है.

इसके लिए पार्टी के तमाम कार्यकर्ता, पार्टी के शुभचिंतक, भाजपा पर आस्था व्यक्त करने वाले मतदाताओ को बहुत- बहुत बधाई. साथ ही झरिया सिंह ने कहा कि झरिया सीट सिंह मेँशन परिवार की परंपरागत सीट रही हैं.

इसे भी पढ़ेंःधनबादः कोर्ट ने केंद्रीय कृषि मंत्री तोमर के खिलाफ जारी किया गिरफ्तारी वारंट

आपको बता दें कि भरतीय जनता पार्टी की टिकट पर दो बार संजीव की मां कुंती देवी ने प्रतिनिधित्व किया. इसके बाद संजीव सिंह 2014 में भारतीय जनता पार्टी की टिकट से जीतकर विधानसभा पहुंचे.

लेकिन नीरज सिंह हत्याकांड में आरोपी बनाए जाने और जेल जाने के बाद उनका राजनीतिक करियर हाशिये पर है. ऐसे में झरिया विधानसभा में टिकट को लेकर अभी से दावेदारी कितनी सफल हो पायेगी यह तो आने वाला समय ही निश्चित कर पायेगा. फिलहाल इस सीट पर कोयलांचल के दों राजनीतिक घरानों की नजर है.

इसे भी पढ़ेंःपुलिसकर्मियों की कमी से जूझ रहा है देवघर का पथरौल थाना, कई दिनों तक था बंद

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like

you're currently offline

%d bloggers like this: