न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

भाजपा छोड़ रालोसपा में शामिल हुए संजय कुशवाहा, कहा- भाजपा सरकार ने झारखंड के किसानों को ठगा है

562

Ranchi/New Delhi : झारखंड में किसानों की दशा लगातार दयनीय होती जा रही है. केंद्र और राज्य में भाजपा सरकार रहने के बाद भी किसानों की आर्थिक दशा सुधारने के लिए भाजपा ने कोई सशक्त कदम नहीं उठाया है. राज्य के किसान कर्ज में डूबे हुए हैं. राज्य में किसानों की दशा दयनीय हो गयी है, किसान आत्महत्या करने को मजबूर हो रहे हैं. किसानों की समस्या को हल करने का कोई काम सरकार ने नहीं किया. किसान को पांच हजार रुपये देने के नाम पर उनकी सारी जमीन का डिटेल निकालने का काम कर रही है और किसानों की भूमि सिर्फ कंपनियों को देने का काम कर रही है रघुवर सरकार. भाजपा सरकार ने झारखंड के किसानों को ठगा है. राज्य में किसानों की इस दशा को देखते हुए भाजपा में रहना संभव नहीं है. उक्त बातें भाजपा किसाना मोर्चा के प्रदेश संयोजक संजय कुशवाहा ने भाजपा का दामन छोड़ते हुए नयी दिल्ली में कहीं. संजय कुशवाहा ने राष्ट्रीय लोक समता पार्टी (रालोसपा) का दामन थाम लिया.

व्यक्ति विशेष की निजी संस्था हो गयी है भाजपा : उपेंद्र कुशवाहा

संजय कुशवाहा रालोसपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष उपेंद्र कुशवाहा के नयी दिल्ली आवास में आयोजित सादे समारोह में पार्टी से जुड़ गये. रालोसपा की सदस्यता ग्रहण करते हुए संजय कुशवाहा ने कहा कि झारखंड में रालोसपा को नयी रफ्तार मिलेगी और पार्टी पूरे प्रदेश खासकर दक्षिणी छोटानागपुर में काफी मजबूत होगी. इस मौके पर पार्टी के झारखंड प्रदेश की पूरी कमिटी मौजूद थी, जिसमे प्रदेश अध्यक्ष विजय महतो, प्रदेश महासचिव सह प्रवक्ता प्रताप कुमार कुशवाहा मौजूद थे. संजय कुशवाहा ने इस मौके पर राष्ट्रीय अध्यक्ष का आभार व्यक्त करते हुए कहा कि पार्टी को झारखंड में मजबूत बनाना और झारखंड के हर व्यक्ति तक पहुंचाना ही लक्ष्य है. उपेंद्र कुशवाहा ने भाजपा पर तंज कसते हुए कहा कि भाजपा अब पार्टी नहीं, एक व्यक्ति विशेष की निजी संस्था हो गयी है. जनता के सरोकार से पार्टी को अब कोई मतलब नहीं रह गया.

Related Posts

धनबाद : हाजरा क्लिनिक में प्रसूता के ऑपरेशन के दौरान नवजात के हुए दो टुकड़े

परिजनों ने किया हंगामा, बैंक मोड़ थाने में शिकायत, छानबीन में जुटी पुलिस

SMILE

इसे भी पढ़ें- आदिवासियों को वन भूमि से बेदखल करना दुर्भाग्यपूर्ण, केंद्र सरकार की नजरअंदाजी के कारण आया एकपक्षीय…

इसे भी पढ़ें- बोकारो थर्मल : शहीद की पत्नी ने कहा, सिर्फ घोषणा करती है सरकार, न नौकरी मिली, न आवास

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like
%d bloggers like this: