GiridihJharkhand

वेतन भुगतान नहीं होने से सफाई कर्मियों ने किया कार्य बहिष्कार, गिरिडीह शहरी क्षेत्र में कूड़ा कलेक्शन का कार्य ठप

Giridih : वेतन और पीएफ (प्रोविडेंट फंड) का भुगतान नहीं होने से गुस्साये आकांक्षा के सफाई कर्मियों ने सोमवार से कार्य बहिष्कार कर दिया. सफाई कर्मियों के बहिष्कार करने से अब गिरिडीह शहरी क्षेत्र में डोर-टू-डोर कूड़ा कलेक्शन का कार्य प्रभावित होगा. सोमवार को ही आकांक्षा के करीब सौ से अधिक सफाई कर्मियों ने बस पड़ाव स्थित डंप यार्ड में नगर निगम और आकांक्षा एजेंसी के खिलाफ प्रदर्शन करते हुए नारेबाजी की.

इस दौरान कर्मियों ने मांग की कि अब जब तक पीएफ और वेतन का भुगतान नहीं होता है, तब तक सफाई कार्य ठप रहेगा. वेतन और पीएफ भुगतान के लिए एजेंसी को कई दिनों से सफाई कर्मी संघ भुगतान की मांग कर रहा है. इसके बाद भी एजेंसी की ओर से मामले को गंभीरता से नहीं लिया जा रहा है. क्योंकि एजेंसी की ओर से हर माह 10 से 12 तारीख के बीच भुगतान करने का आश्वासन मिलता है. लेकिन भुगतान होता नहीं है. प्रदर्शन कर रहे सफाई कर्मियों का आरोप था कि एजेंसी हर छह माह वेतन में बढ़ोतरी का भरोसा दिलाती है. लेकिन कई बार भरोसा दिलाये जाने के बाद भी वेतन में कोई बढ़ोतरी नहीं की गयी.

इधर सफाईकर्मी दोबारा काम पर कब लौटेंगे, यह तो फिलहाल स्पष्ट नहीं हो पाया है. लेकिन सफाई कार्य के बहिष्कार किये जाने के बाद अब एक बार फिर शहर कूड़े के ढेर पर रहने के लिए मजबूर होगा. क्योंकि निगम इलाके में घर-घर कूड़ा कलेक्शन का कार्य इसी एजेंसी के जिम्मे है. इधर कार्य बहिष्कार की घोषणा करने में शामिल जीवन हाड़ी समेत अन्य सफाई कर्मी डंप यार्ड में पहुंचे जरूर. लेकिन डंप यार्ड से न तो कूड़ा कलेक्शन के वाहन ही बाहर निकले और न ही एजेंसी के सौ कर्मी ही ड्यूटी पर गये. इधर नगर निगम के अर्बन प्लॉनर मंजूर आलम ने कहा कि एजेंसी को सितबंर को 12 लाख के भुगतान के बाद कोई भुगतान नहीं किया गया. अर्बन प्लानर ने कहा कि हर उपस्थिति पंजी में कर्मियों के अटेंडेंस के आधार पर एजेंसी को भुगतान किया जाता है.

Advertisement

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: