न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

वर्चस्व कायम करने के लिए संदीप थापा और बिट्टू मिश्रा के गिरोह में हो सकता है गैंगवार

जिला बदर करने की हो रही है तैयारी

1,604

Ranchi:   राजधानी रांची में हाल के दिनों में कई अपराधी जेल से जमानत पर बाहर आये हैं. इन अपराधियों के जेल से निकलने के बाद से गैंगवार की आशंका तेज हो गयी है.

कुख्यात अपराधी संदीप थापा और बिट्टू मिश्रा के गिरोह के बीच गैंगवार की आशंका भी है. रांची में रंगदारी वसूलने और जमीन कारोबार में अपना वर्चस्व कायम करने के लिए यह दोनों अपराधी कभी भी एक दूसरे की हत्या करवा सकते हैं.

जहां संदीप थापा के ऊपर 25 अपराधिक मामले दर्ज हैं वही बिट्टू मिश्रा के ऊपर 15 अपराधिक मामले दर्ज हैं. हाल में ही दोनों अपराधी जेल से जमानत पर बाहर आये हैं.

इसे भी पढ़ेंः रांची : जमीन विवाद को लेकर थम नहीं रहा गोलीबारी का खेल, अपराधी एक के बाद एक घटनाओं को दे रहे अंजाम

सीसीए की अवधि खत्म होने पर कई अपराधी आ चुके हैं जेल से बाहर

रंगदारी, दुष्कर्म जैसे दर्जनभर से अधिक वारदातों के आधा दर्जन कुख्यात अपराधी जेल से जमानत पर बाहर आ चुके हैं. सीसीए अवधि समाप्त होते ही इन अपराधियों को जमानत मिल गयी है.

इनमे संदीप थापा, बिट्टू मिश्रा, प्रकाश यादव, रणधीर वर्मा, सोनू पंडा, विकास सिंह, सन्नी मल्लिक, मोनू सिंह शामिल है.

इन सभी अपराधियों के जेल से बाहर आने पर एक बार फिर रांची में गैंगवार की आशंका प्रबल है.

इसे भी पढ़ेंः हेमंत करकरे की बेटी ने कहा, पिता कहते थे, आतंकवाद का कोई धर्म नहीं , कोई भी धर्म हत्या करना नहीं सिखाता

 दोनों अपराधी कर रहे हैं जमीन का कारोबार

Related Posts

राज अस्पताल में विश्व मरीज सुरक्षा दिवस मनाया गया

हाल ही में दुनिया में डब्ल्यूएचओ द्वारा मरीजों की सुरक्षा को सर्वोच्च प्राथमिकता देने का संकल्प किया गया है.

संदीप थापा और बिट्टू मिश्रा दोनों जमीन का कारोबार कर रहे हैं. जमीन पर अवैध कब्जा करना कम दाम में जमीन लेकर खरीद बिक्री करना इनका मुख्य पेशा बन गया है.

यह दोनों अपराधी रातू रोड नगरी और रातू इलाके में सक्रिय हैं. यह दोनों अपराधी जमीन कारोबार के साथ-साथ शहर के व्यवसायियों से रंगदारी वसूलने का भी काम कर रहे हैं.

ऐसे में आशंका है कि रांची में अपना दबदबा बनाने के लिए यह दोनों कभी भी एक दूसरे की हत्या करवा सकते हैं.

 कभी दोनों एक दूसरे के लिए काम करते थे

रातू रोड के रहनेवाले बिट्टू मिश्रा और संदीप थापा पहले एक दूसरे के साथ मिलकर काम करते थे. बिट्टू मिश्रा  संदीप थापा गुट के साथ ही काम करता था. बाद में दोनों के बीच मनमुटाव होने के चलते बिट्टू ने अलग गैंग बना लिया.

और रंगदारी वसूलने और जमीन का कारोबार करने लगा. इन दोनों अपराधियों ने जमीन कारोबार और रंगदारी के माध्यम से करोड़ों रुपये की संपत्ति भी अर्जित की है.

हालांकि रांची पुलिस ने संदीप थापा और बिट्टू मिश्रा को जिला बदर करने के लिए प्रस्ताव भेज दिया है. डीसी के आदेश के बाद दोनों को जिलाबदर किया जायेगा.

इसे भी पढ़ेंः  माजिद मेमन की जिन्ना विवाद में इंट्री, कहा- देश की आजादी में जिन्ना का बड़ा योगदान, मुस्लिम हैं इसलिए हो रहा हमला 

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like

you're currently offline

%d bloggers like this: