न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

अपराधियों की गोली से जख्मी सामी की मौत, शव गांव पहुंचने पर लोगों ने जाम की सड़क

2,031

Ranchi:  रिम्स में इलाजरत सामी मुंडा की मौत रात 2:30 बजे हो गयी. मुंडा 10 दिनों से रिम्स में इलाजरत थे. पोस्टमार्टम के बाद शव परिजनों को सौंप दिया गया. परिजन जैसे ही शव को लेकर उनके गांव बजरा पहुंचे, गुस्साये लोगों ने सड़क जाम कर दिया. इधर, सामी की मौत की खबर सुनकर रिम्स पहुंचे अजय नाथ शाहदेव ने कहा कि अपराधियों में कानून का खौफ खत्म हो गया है. हम मांग करते हैं कि जल्द से जल्द पुलिस अपराधियों की गिरफ्तारी करे. 10 दिन बाद भी अबतक अपराधी पुलिस की गिरफ्त से बाहर है यह पुलिस की कार्यशैली में सवाल खड़े करती है. सामाजिक कार्यकर्ता बीरेंद्र भगत ने कहा कि सामी मुंडा समाज के लिए सदैव ततपर रहते थे. बजरा स्थित राजकीय उच्च विद्यालय के अध्यक्ष थे. इनके अलावा सरना समिति के लिए भी हमेशा आगे रहते थे. उनके अधिकारों के लिए लड़ते थे. पुलिस को जल्द जल्द से निष्पक्ष जांच करते हुए सामी के कातिलों को गिरफ्तार करना चाहिए. यदि ऐसा नही हुआ तो हमलोग आंदोलन करने के लिए बाध्य होंगे.

क्या है पूरा मामला

बीते दो दिसम्बर को पंडरा ओपी क्षेत्र के बजरा स्थित मुंडा चौक के पास एक बाइक पर सवार होकर आए दो अज्ञात अपरिधियों ने सामी मुण्डा को गोली मार दी. गोली सामी के रीढ़ के ऊपर वाले हिस्से के लगी थी. सबसे पहले सामी मुंडा को स्थानीय देवकमल हॉस्पिटल के भर्ती किया गया था. इसके बाद उन्हें रिम्स रेफर किया गया जिसके बाद वहां डॉ सीबी सहाय के यूनिट में इलाज चल रहा था.

बाइक सवार अज्ञात अपरिधियो ने मारी थी सामी को गोली 

सामी मुंडा के परिजनों से मिली जानकारी के अनुसार स्वामी मुंडा सुबह के करीब 9 बजे अपने होटल के लिए पानी लाने के जा रहे थे. इसी क्रम में एक बाइक पर सवार होकर आए दो अज्ञात अपराधियों ने सामी मुंडा से बहू बाजार जाने का रास्ता पूछा. तबतक दूसरे ने  मुंडा की गर्दन में दो गोली मार दी गोली लगते ही सामी मुंडा गिर पड़े. इसके बाद अपराधी फरार हो गए.

जमीन का मामला लगता है 

मामले की जांच कर रहे पुलिस अजित ने बताया कि प्रथम दृष्टया यह जमीन का मामला लगता है. पुलिस जांच कर रही है जल्दी ही अपरिधियो को गिरफ्तार कर लिया जाएगा.

इसे भी पढ़ेंः धरी की धरी हैं पुरानी योजनाएं, अब बड़ा तालाब बनेगा मरीन ड्राइव

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Comments are closed.

%d bloggers like this: