NationalUttar-Pradesh

समाजवादी पार्टी  के सांसद आजम खान भू-माफिया करार,  जमीन हड़पने के 26 मुकदमे दर्ज

NewDelhi : समाजवादी पार्टी  के सीनियर नेता औरसांसद  आजम खान अब यूपी शासन की भू-माफिया की लिस्ट में शामिल किये गये हैं.  साथ ही पिछने एक सप्ताह  के अंदर आजम पर 26 मामले दर्ज किये जा चुके हैं.   खबरों के अनुसार रामपुर प्रशासन ने ऐंटी-भू माफिया पोर्टल पर आजम खान को सूचीबद्ध कर दिया है. इस  मामले में  इलाके के एक सेवानिवृत्त सर्कल अधिकारी अली हसन का नाम भी जोड़ा गया है.   रामपुर से सपा सांसद आजम खान और उनके एक सहयोगी के खिलाफ गुरुवार को  26 मुकदमे दर्ज हो चुके हैं. उन पर 26 किसानों की 5 हजार हेक्टेयर जमीन हड़पकर मोहम्मद अली जौहर विश्वविद्यालय बनाने के काम में लाया गया है.

Jharkhand Rai

इसे भी पढ़ें  : कर्नाटक विधानसभा अध्यक्ष ने कहा- विश्वास मत पर मतदान में नहीं कर रहा देरी

सीएम योगी आदित्यनाथ ने यह पोर्टल शुरू किया था.

रामपुर के जिलाधिकारी का इस मामले में कहना है कि  हमारे लिए यह एक नियमित प्रक्रिया है. कहा कि जब यह साबित हो जाता है कि किसी की जमीन अवैध रूप से अधिग्रहित की गयी है, तो मामले में आपराधिक प्राथमिकी दर्ज की जाती है.  साथ ही भूमि का अतिक्रमण करने वाले का नाम सरकार की भू-माफिया लिस्ट में शामिल किया जाता है.    आजम खान पर दो मामले हैं और उनके खिलाफ दर्ज 26 एफआईआर के चलते उनका नाम सरकार के एंटी भू-माफिया पोर्टल पर डाला गया है  सेवानिवृत्त सर्कल अधिकारी अली हसन का नाम भी इसमें शामिल किया गया है. जान लें कि 2017 में यूपी की सत्ता संभालते ही सीएम योगी आदित्यनाथ ने भू-माफिया की पहचान करने और जमीन पर अवैध कब्जा करने वालों के खिलाफ शिकायत दर्ज कराने के लिए यह पोर्टल शुरू किया था.

राजस्व विभाग की  शिकायत

यूपी के राजस्व विभाग की शिकायत में कहा गया है कि गरीब किसानों की जमीन हड़पने में अपने पद (उत्तर प्रदेश के कैबिनेट मंत्री, 2012-2017 के रूप में) का दुरुपयोग करने वाले आजम खान ने 5 हजार हेक्टेयर की विशाल भूमि पर अवैध रूप से कब्जा कर लिया था.  राजस्व अधिकारी ने कहा, यह भूमि नदी किनारे की है, इसका अधिग्रहण नहीं किया जा सकता है.  हालांकि, राजस्व रेकॉर्ड जाली थे और बाद में कई सौ करोड़ की यह जमीन जौहर अली विश्वविद्यालय के रूप में अवैध रूप से हथिया ली गयी. अधिकारी के अनुसार, नदी के किनारों पर कब्जा करने के लिए व धोखाधड़ी करने के उद्देश्य से बनाये गये जाली दस्तावेज, आजम खान के खिलाफ मजबूत सबूत के तौर पर उपलब्ध हैं.

Samford

 इसे भी पढ़ें  :  डॉ प्रणब मुखर्जी ने कहा,  50 खरब डॉलर की इकोनॉमी की नींव कांग्रेस सरकारों ने डाली है

Advertisement

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: