Lead NewsNEWSWorld

हौसले को सलामः 300 से अधिक दिनों तक कोरोना संक्रमित रहा, 43 बार रिपोर्ट पॉजिटिव आई…फिर जीत ली जंग

New Delhi : कोरोना से सबसे लंब समय तक जूझने के बाद जिंदा बच निकलने का यह विश्व का पहला मामला है. ब्रिटेन का डेव स्मिथ करीब 10 महीनों तक कोरोना संक्रमित रहा. इन दस महीनों में 43 बार उनकी कोविड जांच रिपोर्ट पॉजिटिव आई. परिजन हौसला हार कर अंतिम संस्कार की तैयारी में जुट गये, लेकिन पीड़ित ने हिम्मत नहीं हारी. आखिरकार, 305 दिनों तक संक्रमित रहने के बाद कोविड को परास्त कर दिया और सबको हैरत में डाल दिया.

इसे भी पढ़ेंःJharkhand Corona Update: 24 घंटे में सबसे अधिक 17 संक्रमित रांची में मिले, जानें-किन-किन नौ जिलों में एक भी संक्रमित नहीं मिले  

ब्रिटेन ब्रिस्टल निवासी डेव स्मिथ की उम्र 72 वर्ष है. इस आयु के लोगों के लिये कोरोना अधिक घातक साबित हो रहा है. अब स्वस्थ होने के डेव ने अपनी आपबीती साझा की है. जिससे हर कोई प्रभावित है. डेव ने कहा है कि, लंबे समय तक संक्रमण से मैं परेशान रहा, लेकिन कभी हिम्मत नहीं हारी. मैं हर समय प्रार्थना में लीन रहता था, यही सोचता था कि आगे कुछ बुरा होने वाला है, लेकिन ऐसा कभी हुआ नहीं. एक समय ऐसा लगने लगा था कि अब लाइफ का द एंड होने वाला है, शरीर से हर चीज यहां तक कि जीवन निकलता जा रहा है, इसके बावजूद प्रार्थना करना बंद नहीं किया, निराशा में नहीं डूबा.

advt

इसे भी पढ़ेंःGovernment Jobs : बिहार में सरकारी नौकरी के लिए बंपर वैकेंसी, 21 हजार पदों को भरेगा ग्रामीण कार्य विभाग

स्मिथ बताते हैं कि बीमारी के दौरान एक समय आया जब लगा कि अब मैं जिंदगी से हार गया. मैंने खुद को तैयार कर लिया. परिवार के सभी लोगों को बुलाया और सबके प्रति स्नेह जताकर गुडबॉय किया. मैंने इस बात की भी सूची बनाई कि मेरे अंतिम संस्कार में कौन सा संगीत बजेगा. स्मिथ की पत्नी भी काफी परेशान रहती थी. पत्नी ने भी अंतिम संस्कार की तैयारी भी पूरी कर ली, लेकिन उन्होंने हिम्मत नहीं छोड़ी और सोच को हमेशा सकारात्मक रखा.

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: