न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

पैसे के लेन-देन में शराब दुकान के सेल्स मैन की हत्या, छानबीन जारी  

गोली की आवाज सुनते ही इलाके में अफरा-तफरी मच गई

71

Dhanbad : झरिया के जोड़ापोखर थाना क्षेत्र अंतर्गत डुमरी नंबर दो के रहने वाले 55 वर्षीय भोला सिंह को अज्ञात अपराधियों ने शनिवार की रात गोली मार दी. भोला सिंह को झरिया थाना क्षेत्र के फुसबंग्ला में अवैध शराब की दुकान के समीप गोली मारी गयी. गोली की आवाज सुनते ही इलाके में अफरा-तफरी मच गई. वहीं स्थानीय लोगों ने घटना की जानकारी थाना को दी. जानकारी मिलते ही झरिया और जोड़ापोखर दोनों थानों की पुलिस दल-बल के साथ घटनास्थल पर पहुंची और बिना देर किये भोला को झरिया पुलिस ने धनबाद के पीएमसीएच ले गयी. लेकिन वहां पहुंचते डॉक्टरों ने भोला को मृत घोषित कर दिया.

इसे भी पढ़ें – अपराधियों ने किया हेंदेगीर के स्टेशन मास्टर और पोर्टर का अपहरण,  छोड़ा, रेलवे ट्रैक पर बम लगाया

रात के 10 बजे घटी घटना

घटना को लेकर जोड़ापोखर थाना प्रभारी सत्यम कुमार और झरिया इंस्पेक्टर रणधीर कुमार आसपास के दुकानदारों से पूछताछ कर रहे हैं. पुलिस ने घटना स्थल से एक मोटर साइकिल JH10 R 3825 को जब्त किया. फिलहाल मोटसाइकिल के बारे में पुलिस पता कर रही है कि वो किसकी है और घटनास्थल पर उसे कौन लेकर आया. भोला की हत्या के पीछे बकाए पैसे के लेन-देन का मामला बताया जा रहा है. साथ ही कहा जा रहा है कि अवैध शराब कारोबारी ने ही इस हत्या को अंजाम दिया है.

दरअसल फुसबंग्ला में कई ऐसे होटल हैं, जिनमें अवैध रूप से शराब की बिक्री धड़ल्ले से होती है. स्थानीय लोगों का कहना है कि इन होटलों में अवैध रूप से शराब की बिक्री पुलिस की मिली भगत से की जाती है.

इसे भी पढ़ें – हाफ मैराथन के लिए ट्रैफिक पुलिस ने तय किया रूट, मोरहाबादी से कांके तक सड़क की दाहिनी लेन में नहीं…

छानबीन की जा रही है

वहीं घटना के बारे में स्थानीय लोगों का कहना है कि शनिवार की रात करीब 10 बजे नारायण होटल में भोला सिंह जैसे ही पहुंचे, तो कुछ अज्ञात लोगों ने उनपर फायरिंग कर दी. भोला सिंह को गोली लगी और वह मौके पर ही गिर गये. वहीं इस घटना की जानकारी सिंदरी डीएसपी प्रमोद कुमार केशरी को भी मिलते ही वे घटनास्थल पर पहुंचे और मामले की छानबीन में जुट गये. वहीं घटना के बारे डीएसपी ने बताया कि फिलहाल जांच जारी है और जो भी अपराधी होंगे उन्हें बक्शा नहीं जायेगा.

इसे भी पढ़ें – धर्म कोड की मांग को लेकर सरहुल महोत्सव को धार्मिक उलगुलान के रूप में मनायेगा आदिवासी समाज

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

hosp22
You might also like
%d bloggers like this: