NEWS

झारखंड में स्टाम्प की बिक्री दूसरे दिन भी रही बंद, कई तरह के कार्य प्रभावित

Ranchi : झारखंड सरकार द्वारा ऑनलाइन स्टाम्प बिक्री किये जाने के फैसले का राज्य व्यापी विरोध दिख रहा है.  दूसरे दिन भी राज्य के लगभग 1500 स्टाम्प विक्रेताओं ने सरकार की इस नयी व्यवस्था का विरोध करते हुए अनिश्चितकालीन हड़ताल जारी रखी. स्टाम्प वेंडर्स की हड़ताल का सीधा असर कचहरी परिसर में देखने को मिला. हड़ताल पर गये स्टांप विक्रेताओं ने ज्यूडिशियल स्टाम्प की बिक्री भी बंद कर दी है. जिससे एफिडेविट कराने वाले लोगों को काफी परेशानी हो रही है.

इसे भी पढ़ें – यूपी में स्पेशल सिक्योरिटी फोर्सः जनाक्रोश को दबाने के लिए काला कानून!

सिर्फ रांची में होते हैं 900 से ज्यादा एफिडेविट

अनुमान के मुताबिक, सिर्फ रांची में रोजाना करीब 900 से ज्यादा एफिडेविट होते हैं और एफिडेविट में जो टिकट लगता है, उसकी बिक्री भी स्टाम्प वेंडर ही करते हैं. वहीं ज्यूडिशियल स्टाम्प की वजह से कोर्ट का काम भी आंशिक रूप से प्रभावित है, क्योंकि कोर्ट में जमानत और सर्टिफाइड कॉपी के अलावा बैंकों के काम में इस्तेमाल होने वाले रेवेन्यू टिकट भी नहीं मिल रहे हैं.

advt

यहा बता दें कि झारखंड राज्य मुद्रांक विक्रेता संघ के द्वारा अपनी कई मांगो को लेकर अनिश्चकालीन हड़ताल की शुरुआत की गयी है. जिसमें स्टांप की ऑनलाइन बिक्री बंद कर पूर्व की व्यवस्था लागू करने की मांग की गयी है. ताकि स्टाम्प वेंडर्स के सामने रोजगार की समस्या उत्पन्न ना हो.

इसे भी पढ़ें – सिविल कोर्ट के रजिस्ट्रार को वकीलों का खत, कहा – कोर्ट में दस्तावेज के लिए मांगे जाते हैं पैसे

advt
Advertisement

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button