न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

साईनाथ यूनिवर्सिटी बीए, एमए, एमएससी कोर्स एक्ट के अनुरूप नहीं

सामान्य कोर्स में यूजीसी नियमों की अनदेखी

775

Ranchi: साईनाथ यूनिवर्सिटी में सामान्य कोर्स अंडर ग्रेजुएट (यूजी) और पोस्ट ग्रेजुएट (पीजी) यूजीसी के नियमों के अनुरूप नहीं चल रहे हैं. कला, वाणिज्य और विज्ञान संकाय में यूजी और पीजी के कोर्स के लिए यूनिवर्सिटी ग्रांट कमीशन (यूजीसी) ने जो नियम तय किये हैं, साईंनाथ यूनिवर्सिटी उसका पालन नहीं कर रहा है. न्यूज विंग के पास इस बात के भी पुख्ता प्रमाण हैं कि साईंनाथ यूनिवर्सिटी द्वारा यूजी व पीजी के कोर्स में यूनिवर्सिटी एक्ट का भी पालन नहीं किया जा रहा है. यूजीसी के नियम के तहत किसी भी सामान्य कोर्स या विभाग स्थापति करने के लिए किसी भू यूनिवर्सिटी में शिक्षकों की संख्या तय है. जिसमें एक विषय में सामान्य कोर्स या विभाग स्थापित करने के लिए एक विभाग में एक प्रोफसर, दो रीडर एवं दो सहायक शिक्षक कम से कम होना है. लेकिन साईंनाथ यूनिवर्सिटी में किसी भी कोर्स के लिए प्रोफेसर, रीडर या सहायक शिक्षक हैं ही नहीं. साईंनाथ यूनिवर्सिटी के द्वारा सामान्य कोर्स के विषयों में छात्रों का एडमिशन ले लिया जाता है और उन्हें दूसरे यूनिवर्सिटी से शिक्षक को बुलाकर पढ़ाई पूरी करायी जाती है.

इसे भी पढ़ेंः रांची : साईनाथ यूनिवर्सिटी के पास नहीं थी AICTE की मान्यता, 1000 से अधिक छात्रों को दे दी डिप्लोमा की डिग्री

यूजीसी की गाईडलाईन के तहत हर यूनिवर्सिटी को अपने यहां चल रहे कोर्स की एकेडमिक काउंसिल से मिली स्वीकृति का ब्यौरा सार्वजनिक करना है. इसकी रिपोर्ट सरकार को भी देनी है. जिसमें कोर्स और फीस दोनों तरह की जानकारी सरकार को दिया जाना है. साईंनाथ यूनिवर्सिटी के द्वारा इस गाईडलाईन का पालन भी नहीं किया जा रहा है.
न्यूज विंग ने इन गड़बड़ियों के बारे में साईनाथ यूनिवसिर्टी का पक्ष जानने के लिए कुलपति प्रो एसपी अग्रवाल से संपर्क किया, तो उन्होंने फोन नहीं रिसीव किया. इस कारण इस खबर में उनका पक्ष नहीं दिया जा रहा है. उनका पक्ष आने पर न्यूज विंग उनकी बातें भी प्रकाशित करेगा.

hosp3

क्या कहता यूनिवर्सिटी एक्ट

झारखंड यूनिवर्सिटी एक्ट के अनुसार कोई भी यूनिवर्सिटी द्वारा किसी भी तरह का कोर्स आरंभ करने से पहले कोर्स को अपने एकेडमिक कांउसिल से पारित कर उसकी सूचना उच्च एवं तकनीकी विभाग को देगा तभी ये कोर्स मान्य होगा वहीं कोर्स फीस का निर्धारण विभाग के द्वारा किया जायेगा.

सामान्य कोर्स में विषयों का नहीं दिया गया है ब्यौरा

साईनाथ यूनिवर्सिटी में सामान्य कोर्स जैसे बीए, बीकॉम, बीएससी, एमए, एमकॉम एवं एमएससी कोर्स में नामांकन के लिए विषयवार जानकरी उपलब्ध नहीं करायी जाती है. यूनिवर्सिटी के वेबसाईट पर इससे संबंधित कोई जानकारी उपलब्ध नहीं है.

शिकायत मिलते ही करेंगे कार्रवाईः अबू इमरान

उच्च शिक्षा एवं तकनीकी विभाग के निदेशक अबू इमरान ने कहा कि ज्यादात्तर निजी विश्वविद्यालय को विभाग की ओर से नोटिस दिया गया है कि वह अपने एकेडमिक काउंसिल के निर्णय को सार्वजनिक करें तथा कोर्स फीस की जानकारी सरकार को उपलब्ध करायें. अगर किसी यूनिवर्सिटी के द्वारा इसका पालन नहीं किया जा रहा है, तो मामला जानकारी में आने पर उनके विरुद्ध कार्रवाई की जायेगी.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

You might also like
%d bloggers like this: