न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

साध्वी प्रज्ञा ने कहा,  हमें  नालियां और शौचालय साफ करने के लिए सांसद नहीं बनाया गया है

वायरल वीडियो में साध्वी प्रज्ञा कहती दिख रही हैं कि हमें आपकी नालियां और शौचालय साफ करने के लिए सांसद नहीं बनाया गया है.  

58

Bhopal : हमें आपकी नालियां और शौचालय साफ करने के लिए सांसद नहीं बनाया गया है. यह बयान साध्वी प्रज्ञा का है.  भोपाल से भाजपा सांसद साध्वी प्रज्ञा अपने बयानों को लेकर चर्चा में रहती हैं. एक बार फिर से वह चर्चा में हैं.  इस बार उन पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के स्वच्छता अभियान का मजाक बनाने का आरोप लगा है. वायरल वीडियो में साध्वी प्रज्ञा कहती दिख रही हैं कि हमें आपकी नालियां और शौचालय साफ करने के लिए सांसद नहीं बनाया गया है.

जानकारी के अनुसार भाजपा सांसद साध्वी प्रज्ञा ठाकुर सीहोर में एक सार्वजनिक कार्यक्रम में जनता से  रूबरू  थीं.  वीडियो में वह कहती दिख रही हैं, ध्यान रखिए, हमें नाली साफ करवाने के लिए सांसद नहीं बनाया गया है.  हमें आपके शौचालय साफ करवाने के लिए सांसद नहीं बनाया गया है. हम जिस काम के लिए बनाये गये हैं, वह काम हम ईमानदारी से करेंगे.

वह उन्हें कभी दिल से माफ नहीं कर पायेंगे

प्रज्ञा ठाकुर का विवादों से चोली दामन जैसा साथ है. वे भाजपा  में शामिल होने के बाद से ही सुर्खियों में बनी हुई हैं. हेमंत करकरे से लेकर नाथूराम गोडसे तक पर बयान तक प्रज्ञा ठाकुर पर जमकर बहस हुई. यहां तक की खुद पीएम मोदी ने प्रज्ञा ठाकुर को लेकर कह दिया था, वह गांधी जी पर दिये बयान के लिए उन्हें कभी माफ नहीं करेंगे. पार्टी की किरकिरी को देखते हुए प्रज्ञा ठाकुर को माफी भी मांगनी पड़ी थी.  जान लें कि  इससे पूर्द  लोकसभा चुनाव प्रचार के दौरान साध्वी प्रज्ञा ठाकुर गोडसे पर दिये गये अपने बयान को लेकर चर्चा में थीं.

Related Posts

सीबीआई ने एनडीटीवी के संस्थापक प्रणॉय राय, राधिका रॉय के खिलाफ नया केस दर्ज किया   

सीबीआई ने उन पर प्रत्यक्ष विदेशी निवेश (एफडीआई) के नियमों के उल्लंघन मामले में यह केस दर्ज किया है.

SMILE

अभिनेता से राजनेता बले कमल हासन के गोडसे को पहला हिंदू आतंकवादी बताने वाले  बयान पर जब साध्वी से प्रतिक्रिया मांगी गयी,  तो उन्होंने कहा था, गोडसे देशभक्त थे, हैं और रहेंगे. साध्वी प्रज्ञा के इस बयान की काफी आलोचना हुई थी,. पीएम मोदी ने कहा था कि वह उन्हें कभी दिल से माफ नहीं कर पायेंगे.

इसे भी पढ़ें :  मोहन भागवत से मिले जर्मन राजदूत , विवाद होने पर कहा,  पसंद करें या ना करें, आरएसएस  जन आंदोलन

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like
%d bloggers like this: