National

साध्वी प्रज्ञा ने कहा, नाथूराम गोडसे देशभक्त थे,  बीजेपी ने बयान से किनारा किया, कहा, माफी मांगनी चाहिए

विज्ञापन

NewDelhi : बीजेपी प्रवक्ता जीवीएल नरसिम्हा राव ने  गुरुवार, 16 मई  को प्रेस कॉन्फ्रेंस कर कहा  कि हम साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर के बयान से इत्तेफाक नहीं रखते हैं और उसकी कड़ी निंदा करते हैं. पार्टी इस बाबत उनसे स्पष्टीकरण भी मांगेगी. कहा कि साध्वी को अपने बयान के लिए सार्वजनिक तौर पर माफी मांगनी चाहिए. जान ले कि साध्वी ने चुनाव प्रचार के दौरान कहा था कि नाथूराम गोडसे  देशभक्त थे, हैं और आगे भी रहेंगे.

गोडसे आजाद भारत का पहला आतंकवादी हिंदू

अभिनेता से नेता बने मक्कल नीधि मय्यम (एमएनएम) संस्थापक कमल हासन ने यह कह कर नया विवाद खड़ा कर दिया था कि गोडसे आजाद भारत का पहला आतंकवादी हिंदू था. यह बात उन्होंने राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के हत्यारे नाथूराम गोडसे के संदर्भ में कही थी इस पर और भगवा आतंकवाद के मसले पर गुरुवार को प्रचार के दौरान एक पत्रकार ने साध्वी से सवाल दागा.

जवाब में उन्होंने कहा, नाथूराम गोडसे देश भक्त थे, हैं और रहेंगे. उन्हें आतंकवादी बोलने वाले अपने गिरेबान में झांक कर देखें. अबकी बार चुनाव में ऐसे लोगों को जबाव दे दिया जाएगा.  साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर के यह बयान देने के कुछ ही देर बाद उनकी पार्टी ने इससे किनारा कर लिया है. बीजेपी ने साध्वी के बयान की  कड़ी भर्त्सना की है.

advt
इसे भी पढ़ेंः पश्चिम बंगाल में पीएम मोदी की रैली, हिंसा की आशंका,  SPG ने अलर्ट जारी किया

advt
Advertisement

Related Articles

Back to top button