Corona_UpdatesHEALTHLead NewsNational

रूस का बड़ा ऐलान, स्पूतनिक लाइट वर्जन सिंगल डोज में ही करेगा कोरोना का काम तमाम

स्पूतनिक वैक्सीन 80 फीसदी तक है प्रभावी

New Delhi : रूस की कोरोना वायरस से बचाव के लिए बनायी गयी स्पूतनिक वैक्सीन को लेकर गुरुवार को एक बड़ा ऐलान किया है. रूस ने कहा कि स्पूतनिक वी का लाइट वर्जन सिंगल डोज में ही कोरोना वायरस का काम तमाम कर देगा.

रूस ने कहा कि स्पूतनिक वी का लाइट वर्जन सिंगल डोज कोरोना वैक्सीन है जो कि 80 फीसदी तक प्रभावी है. जो कि दो डोज वाले टीकों की तुलना में अधिक कारगर है.

advt

इसे भी पढ़ें :क्रिकेटर इरफान पठान पर बुजुर्ग ने अपनी बहू के साथ अवैध संबंध होने का लगाया आरोप

दावा 28 दिन में वायरस से लड़ने की एंटीबॉडी बन गई

स्पूतनिक वी के बारे में कहा गया है कि वैक्सीन के लाइट वर्जन से टीकाकरण को गति मिलेगी और महामारी को फैलने से रोकने में मदद करेगा. स्पूतनिक ने कहा कि वैक्सीन के लाइट वर्जन ओवरआल 79.4 फीसदी रही है.

91.7 फीसदी लोगों में मात्र 28 दिन के भीतर वायरस से लड़ने की एंटीबॉडी बन गई. कंपनी ने कहा कि 100 फीसदी लोग जिनके शरीर में पहले से इम्यूनिटी थी उनको वैक्सीन लेने के बाद शरीर का एंटीबॉडी लेवल 10 दिन में 40 गुना बढ़ गया.

इसे भी पढ़ें :संस्कृत के प्रख्यात विद्वान प्रोफेसर खालिद बिन यूसुफ का निधन

1.5 लाख डोज की पहली खेप पहुंच चुकी है

बता दें कि रूस की कोरोना वायरस वैक्सीन स्पूतनिक वी के इस्तेमाल के लिए भारत सरकार ने भी मंजूरी दे दी है. रूसी वैक्सीन स्पूतनिक V की पहली खेप पहुंची भारत पहुंच गई है.

1.5 लाख डोज लेकर रूसी विमान शनिवार को करीब 4 बजे हैदराबाद में लैंड किया. इसके साथ ही देश को कोरोना के खिलाफ तीसरा हथियार मिल गया है. आज ही देश में टीकाकरण के पहले फेज की शुरुआत हुई है, जिसे स्पूतनिक वी के आने से तेजी मिलेगी.

भारतीय विदेश मंत्रालय की ओर से कहा गया कि स्पूतनिक V वैक्सीन महामारी के खिलाफ जंग में भारतीय शस्त्रागार से जुड़ेगा. यह तीसरा विकल्प हमारी वैक्सीन क्षमता को बढ़ाएगा और टीकाकरण में तेजी लाएगा. 1.5 लाख डोज की यह पहली खेप है आगे लाखों डोज और आएंगे.

इसे भी पढ़ें :होम आइसोलेशन के मरीज जा रहे डिप्रेशन में, मांग रहे साइकियाट्रिस्ट से मदद

Advertisement

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: