Lead NewsNationalTOP SLIDERWorld

आज भारत आ रहे हैं रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन, दिल्ली पर टिकी दुनिया की निगाहें

New Delhi : रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन आज भारत पहुंच रहे हैं. रक्षा समझौते के लिए पुतिन का यह दौरा  काफी अहम माना जा रहा है. राष्ट्रपति पुतिन पीएम मोद को एस-400 एयर डिफेंस सिस्टम का मॉडल गिफ्ट करेंगे.

21वां भारत-रूस वार्षिक शिखर सम्मेलन

भारत आगमन के बाद रूसी राष्ट्रपति नई दिल्ली में आयोजित 21वां भारत-रूस वार्षिक शिखर सम्मेलन में हिस्सा लेंगे. इसके बाद सोमवार शाम को पीएम मोदी के साथ द्विपक्षीय मुलाकात होगी जिसमें दोनों नेता ऊर्जा से लेकर अंतरिक्ष प्रौद्योगिकी और हथियार उत्पादन के क्षेत्र में कई डील करेंगे. इसके अलावा AK-203 असॉल्ट राइफल सौदा महत्वपूर्ण होगा.

advt

दिल्ली की तरफ होगी दुनिया की निगाहें

राष्ट्रपति पुतिन के भारत दौरे पर दुनिया की निगाहें होगी. हिंद-प्रशांत क्षेत्र, क्वाड और अफगानिस्तान पर दोनों देशों के बीच जारी मतभेद और चीन-भारत तनाव के बीच पुतिन की इस यात्रा को खासा महत्व दिया जा रहा है. सूत्रों के मुताबिक, रूस के राष्ट्रपति पुतिन दोपहर बाद दिल्ली पहुंचेंगे. वह सिर्फ 6-7 घंटे भारत में होंगे. इस बीच शाम 5:30 बजे हैदराबाद हाउस में दोनों नेताओं के बीच द्विपक्षीय मुलाकात होगी. दोनों नेताओं के बीच सीधी और अनौपचारिक बातचीत का एक सत्र भी होगा. दोनों वैश्विक नेता ऊर्जा से लेकर अंतरिक्ष प्रौद्योगिकी और हथियार उत्पादन के क्षेत्र में कई डील करेंगे.  और इसी के साथ भारत और रूस की दोस्ती एक और नया इतिहास रचेगी.

S-400 एयर डिफेंस मिसाइल सिस्टम

रूस के साथ ये डील एस-400 एयर डिफेंस मिसाइल सिस्टम की है जिसे लेकर रूस और भारत के बीच 5 अरब डॉलर से अधिक के सौदे पर समझौता हुआ था. इस मुलाकात में पुतिन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को मिसाइल रक्षा प्रणाली एस-400 का मॉडल उपहार स्वरूप सौंपेगे. रूस द्वारा भारत को इस रक्षा प्रणाली की आपूर्ति के प्रतीक के रूप में ये मॉडल सौंपा जाएगा.

एके-203 राइफल सौदे पर मुहर लगेगी

रूसी राष्ट्रपति पुतिन के दौरे में दोनों देश 5 हजार करोड़ से अधिक के एके-203 असॉल्ट राइफल सौदे पर मुहर लगाएंगे. पुतिन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को मिसाइल रक्षा प्रणाली एस-400 का मॉडल उपहार स्वरूप सौंपेगे. रूस द्वारा भारत को इस रक्षा प्रणाली की आपूर्ति के प्रतीक के रूप में ये मॉडल सौंपा जाएगा.

रूस के विदेश मंत्री-रक्षा मंत्री भी रहेंगे मौजूद

भारत के साथ 2+2 वार्ता में शामिल होने के लिए रूस के विदेश मंत्री सर्गेई लावरोव और रूस के रक्षा मंत्री सर्गेई शोइगू भी दिल्ली में होंगे. जहां वो भारत में अपने समकक्ष विदेश मंत्री एस जयशंकर और रक्षामंत्री राजनाथ सिंह के साथ अलग से मीटिंग करेंगे. जिसमें भारत और रूस मिलकर सैन्य और तकनीकी सहयोग पर चर्चा करेंगे. इसी 2+2 वार्ता के दौरान बातचीत की टेबल पर साझेदारी की योजनाओं को आगे बढ़ाएंगे

एनर्जी सेक्टर में दोनों देशों के बीच अभी 30 बिलियन डॉलर इन्वेस्टमेंट है. 2025 तक इसे 50 बिलियन डॉलर तक करने का प्लान है. मोदी 2019 में रूस गए थे. इस दौरान 10 हजार 300 किलोमीटर के चेन्नई व्लादिवोस्तोक सी-रूट पर बातचीत हुई थी. अगर इस पर समझौता होता है तो दोनों ओर के शिप्स को एक-दूसरे के यहां पहुंचने में 24 से 40 दिन कम लगेंगे.

advt

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: