न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

मीडिया के जरिए भारत का चुनाव प्रभावित करने की कोशिश करेगा रूस ! : ऑक्सफर्ड विशेषज्ञ

भारत में 2019 में होने जा रहे लोकसभा चुनाव में रूस का क्या काम?

286

वॉशिंगटन : भारत में 2019 में होने जा रहे लोकसभा चुनाव में रूस का क्या काम? खबर आयी है कि रूस मीडिया के माध्यम से चुनाव को प्रभावित करने की कोशिश कर सकता है. ऐस दावा ऑक्सफर्ड विशेषज्ञों ने अमेरिकी सांसदों के समक्ष किया है. विशेषज्ञों के अनुसार भारत और ब्राजील जैसे देश जहां भविष्य में चुनाव होने जा रहे हैं, रूस वहां के मीडिया के जरिए उसमें हस्तक्षेप कर सकता है. सर्वविदित है कि पूर्व में रूस पर अमेरिकी चुनाव में हस्तक्षेप किये जाने के आरोप लगे थे.  इसका राष्ट्रपति  ट्रंप खंडन करते रहे थे.

चुनाव में रूसी हस्तक्षेप की बात को लेकर यूनिवर्सिटी के ऑक्सफर्ड इंटरनेट इंस्टिट्यूट ऐंड बेलियोल कॉलेज के प्रिंसिपल फिलिप एन होवर्ड ने सोशल मीडिया पर विदेशी प्रभाव के मुद्दे पर सीनेट की खुफिया कमिटी की सुनवाई में यह बात कही. लेकिन होवर्ड ने अपने आरोपों के बारे में और अधिक जानकारी नहीं दी.

इसे भी पढ़ेंः ऐपल एक ट्रिलियन डॉलर की कंपनी बनी, पाकिस्तान जैसे देश को अकेले ही खरीद सकती है
hosp3

लोकतांत्रिक सहयोगी देशों में अधिक चिंताएं हो सकती हैं

आगाह किया कि उन देशों में हालात और अधिक खतरनाक हो सकते हैं, जहां मीडिया अमेरिका जितना पेशेवर नहीं है. अमेरिकी सीनेटर सुसान कोलिंस के एक सवाल के जवाब में होवर्ड ने यह बात कही. इस क्रम में उन्होंने भारत और ब्राजील के चुनावों में मीडिया के जरिए हस्तक्षेप की संभावना का जिक्र किया. इससे पहले कोलिंस ने हंगरी की मीडिया में इस तरह के हस्तक्षेप के कुछ उदाहरण गिनाये. उन्होंने कहा, मैं कह सकता हूं कि हमारे लोकतांत्रिक सहयोगी देशों में अधिक चिंताएं हो सकती हैं. मेरा मानना है कि रूस हमें निशाना बनाने से आगे बढ़ते हुए ब्राजील, भारत जैसे अन्य लोकतंत्रों को निशाना बना सकता है, जहां अगले कुछ बरसों में चुनाव होने वाले हैं.

होवर्ड ने कहा कि हम महत्वपूर्ण रूसी गतिविधि देख रहे हैं, इसलिए उन देशों के मीडिया संस्थानों को सीखने और विकसित होने की जरूरत है. सीनेट कमेटी ने 2016 के अमेरिकी चुनाव में कथित रूसी हस्तक्षेप पर ध्यान केंद्रित करते हुए सोशल मीडिया पर विदेशी प्रभाव पर सुनवाई की.

इसे भी पढ़ेंःपूर्व CJI ने दी लिटिगेशन पॉलिसी बनाने की सलाह, मॉब लिंचिंग को बताया कानून की विफलता

ट्रंप ने हस्तक्षेप की बात को खारिज किया था

बता दें कि जनवरी 2017 के आकलन में शीर्ष अमेरिकी खुफिया एजेंसियां इस निष्कर्ष पर पहुंची थी कि रूस ने 2016 के अमेरिकी राष्ट्रपति चुनाव में हस्तक्षेप किया था. हालांकि, ट्रंप ने हाल ही में रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन के साथ अपनी ऐतिहासिक शिखर वार्ता के क्रम में एकबार फिर हस्तक्षेप की बात को खारिज किया  ट्रंप ने कहा कि उन्होंने अपने शानदार प्रचार के कारण चुनाव जीता है.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

You might also like
%d bloggers like this: