Education & CareerLead NewsRanchi

तय रेट से ज्यादा फीस वसूल रहे B.Ed. कॉलेजों का बचाव कर रहे RU के DSW

  • भुक्तभोगी स्टूडेंट्स से कहा- वापस ले लें ST-SC थाना में दर्ज केस
  • निर्धारित एग्जाम फीस से चार गुना फीस वसूल रहा भारती B.Ed. कॉलेज

Ranchi :  रांची यूनिवर्सिटी (RU) के आदेश के बाद भी बीएड कॉलेज मनमानी कर रहे हैं, ऐसे आरोप लग रहे हैं. कहा जा रहा है कि यूनिवर्सिटी की ओर से बीएड कॉलेजों में फाइनल एग्जाम के लिए 800 रुपये फीस तय की गयी है, फिर भी बीएड कॉलेज मनमानी फीस वसूल रहे हैं. बीएड कॉलेजों की मनमानी इस हद तक बढ़ी कि मामला थाना तक पहुंच गया. आरोप है कि कई बीएड कॉलेजों ने रांची यूनिवर्सिटी द्वारा तय फीस से ज्यादा फीस स्टूडेंट्स से वसूले हैं. आरोप है कि इनमें से रांची के मांडर स्थित भारती बीएड कॉलेज ने सबसे अधिक फीस वसूली है.

आरोपों के मुताबिक, भारती बीएड कॉलेज द्वारा एग्जाम फीस के तौर पर 7100 रुपये तक वूसले गये हैं, जो RU द्वारा निर्धारित फीस की लगभग नौ गुना है. हालांकि, RU के हस्तक्षेप के बाद इस कॉलेज ने तीन हजार रुपये फीस तय की. भारती बीएड कॉलेज ने निर्धारित फीस से ज्यादा फीस वसूली है, इस बात की पुष्टि RU के डीएसडब्ल्यू पीके वर्मा के उस बयान से भी होती है, जिसमें उन्होंने कहा है कि भारती बीएड कॉलेज द्वारा ली जा रही 7100 रुपये की एग्जाम फीस को कम करके तीन हजार रुपये किया गया है.

इसे भी पढ़ें- लातेहार: अंडा खाने निकले युवक की पेड़ से लटकी मिली लाश, मौत की गुत्थी सुलझाने में जुटी पुलिस

अभी भी निर्धारित दर से चार गुना ज्यादा वसूली जा रही एग्जाम फीस

डीएसडब्ल्यू के इस बयान से इस बात की तो स्पष्ट रूप से पुष्टि होती है कि भारती बीएड कॉलेज RU द्वारा निर्धारित 800 रुपये की एग्जाम फीस से लगभग नौ गुना ज्यादा फीस (7100 रुपये) वसूली है. साथ ही, उनके बयान से इसकी भी पुष्टि होती है कि इस कॉलेज में एग्जाम फीस 7100 रुपये से कम करके तीन हजार रुपये कर दी गयी है, जो अभी भी RU द्वारा निर्धारित 800 रुपये की एग्जाम फीस से लगभग चार गुना ज्यादा है.

कॉलेज अपने चार्जेस ले रहे : डीएसडब्ल्यू

इस मामले में रांची यूनिवर्सिटी के डीएसडब्ल्यू पीके वर्मा ने बताया कि 800 रुपये परीक्षा फीस रांची यूनिवर्सिटी ने तय की थी. इसमें 400 रुपये लेट फीस थी. कॉलेजों ने जो फीस बढ़ाकर ली, उसमें मेंटेनेंस समेत अन्य चार्ज थे. शिकायत मिलने के बाद कार्रवाई हुई. स्टूडेंट्स की समस्या का समाधान कर दिया गया है.

डीएसडब्ल्यू ने स्टूडेंट्स से की केस वापस लेने की अपील

भारती बीएड कॉलेज का जिक्र करते हुए पीके वर्मा ने कहा कि 7100 रुपये को कम कर तीन हजार रुपये किया गया. ऐसे में स्टूडेंट्स केस वापस लें. उन्होंने बताया कि जिन 23 स्टूडेंट्स का एडमिशन रद्द किया गया था, उनका एडमिशन फिर से मान्य कर दिया गया है, जिसका नोटिस जारी किया जा चुका है. हालांकि, प्रभावित स्टूडेंट्स का कहना है कि न तो उन्होंने एसटी-एससी थाना में भारती बीएड कॉलेज के खिलाफ दर्ज केस वापस लिया है और न ही 23 स्टूडेंट्स के रद्द किये गये एडमिशन को फिर से बहाल ही किया गया है.

इसे भी पढ़ें- गिरिडीह नगर थाना में पोस्टेड दारोगा की फांसी पर लटकी मिली लाश, सुसाइड का शक

adv

लेट फाइन भी स्टूडेंट्स को कर रहा परेशान

इतना ही नहीं, आरोप यह भी है भारती बीएड कॉलेज ने स्टूडेंट्स से लेट फाइन के नाम पर 1660 रुपये वसूले हैं. संघमित्रा बीएड कॉलेज में 2500 रुपये, सीआईटी बीएड कॉलेज में 2000 रुपये, आरटीसी बीएड कॉलेज 1200 रुपये, संतोष बीएड कॉलेज में 3000 रुपये वसूले गये. हालांकि, बाद में संतोष बीएड कॉलेज का मामला रांची यूनिवर्सिटी पहुंचा, जिस पर कार्रवाई की गयी. लेकिन, अब भी स्टूडेंट्स इन कॉलेजों की मनमानी फीस और लेट फाइन से परेशान हैं.

बता दें कि यूनिवर्सिटी की ओर से सात अक्टूबर से 15 अक्टूबर तक परीक्षा फॉर्म भराये गये. अब जो छात्र फॉर्म भर रहे हैं, वे लेट फाइन के साथ भर रहे हैं. इसकी आखिरी तारीख 19 अक्टूबर तक है.

23 स्टूडेंट्स का एडमिशन कर दिया गया था रद्द

अलग-अलग कॉलेजों के स्टूडेंट्स ने बताया कि शुरुआत में ही कॉलेजों द्वारा मनमानी एग्जाम फीस लिये जाने की शिकायत रांची यूनिवर्सिटी के डीएसडब्लयू से की गयी थी. भारती बीएड कॉलेज के छात्रों ने प्रदर्शन भी किया, जिसके बाद डीएसडब्लयू ने उचित कार्रवाई का आश्वासन दिया था. नाम न छापने की शर्त पर स्टूडेंट्स ने बताया कि डीएसडब्ल्यू के आदेश के बाद भी कोई कार्रवाई नहीं की गयी. इस मामले के बाद भारती बीएड कॉलेज के 23 स्टूडेंट्स का एडमिशन रद्द कर दिया गया, जिसके बाद प्रभावित स्टूडेंट्स ने एसटी-एससी थाना में भारती बीएड कॉलेज पर केस दर्ज किया. स्टूडेंट्स का कहना है कि केस वापस नहीं लिया गया है और न ही कॉलेज ने एडमिशन फिर से बहाल किया है.

इसे भी पढ़ें- दो दिन से दो बच्चों समेत लापता थी महिला, दो अलग-अलग कुओं से मिले तीनों के शव

advt
Advertisement

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: