JharkhandMain SliderRanchi

कोविड बेडों की संख्या कम बताना अफवाह, 4000 मरीजों के लिए की जा रही है जगह की पहचान :  हेमंत

खेलगांव में बने कोविड वार्ड में है 2000 बेडों की व्यवस्था

वार्डों के निरीक्षण को पहुंचे सीएम, कहा,”हर दिन 8000 से 9000 तक हो रही कोविड टेस्टिंग, इसलिए बढ़ रही संक्रमित मरीजों की संख्या”

Ranchi : कोरोना संक्रमित मरीजों की तुलना में कोविड वार्डों में बैड की संख्या कम होने की बातों को मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने मात्र अफवाह बताया है. सीएम ने कहा है कि सरकार हर स्तर पर कोविड मरीजों के रख-रखाव की व्यवस्था कर रही है. कोविड वार्डों पर सरकार की पैनी नजर है. प्रशासन 3000 से 4000 मरीज रखने की क्षमता वाली जगहों की पहचान कर रही है.

मुख्यमंत्री ने यह बात राजधानी के दो जगहों पर बनाए गये कोविड वार्डों के निरीक्षण के दौरान कही. बता दें कि राज्य में कोरोना की स्थिति काफी प्रतिकूल होती जा रही है. हर दिन संक्रमित मरीजों का आंकड़ा पूरे राज्य में 200 के पार जा रहा है. वहीं कुछ दिन पहले मीडिया में यह खबर आयी थी कि संक्रमित मरीजों की तुलना में कोविड वार्डों में बेडों की संख्या कम हो गयी है. लेकिन  सीएम ने इसे मात्र एक अफवाह बताया है.

Catalyst IAS
ram janam hospital

इसे भी पढ़ेंः रांची विवि की लापरवाही के कारण रिम्स से तैयार डॉक्टरों को नहीं मिल पा रही ज्वाइनिंग

The Royal’s
Sanjeevani

कुटे और खेलगांव में बने स्टेडियम परिसर में बना है कोविड वार्ड

राजधानी में कोरोना संक्रमित मरीजों को रखने के लिए दो कोविड वार्ड बनाए गये हैं. पहला वार्ड नये विधानसभा भवन के पास कूटे स्थित विस्थापित कॉलोनी के नवनिर्मित आवास और दूसरा खेलगांव स्थित स्थित बिरसा मुंडा एथलेटिक्स स्टेडियम परिसर में बना है. सीएम हेमंत सोरेन रविवार को दोनो कोविड वार्डों के निरीक्षण में थे.

उनके साथ मुख्य सचिव सुखदेव सिंह, सीएम के प्रधान सचिव राजीव अरूण एक्का, स्वास्थ्य सचिव नितिन मदन कुलकर्णी, प्रेस सलाहकार अभिषेक प्रसाद, रांची डीसी छवि रंजन सहित कई आला अधिकारी उपस्थित थे. निरीक्षण के दौरान यहां की व्यवस्था का जायजा लिया साथ ही अधिकारियों को आवश्यक दिशा-निर्देश भी दिये.

इसे भी पढ़ेंः गर्व की बात : सब ठीक रहा तो आइसीसी चेयरमैन बन सकते हैं सौरव गांगुली, संगकारा ने किया समर्थन

ज्यादा टेस्टिंग हो रही है, तो मरीज भी ज्यादा मिल रहे हैं :  हेमंत

सीएम ने बताया कि राज्य में कोरोना का संक्रमण धीरे-धीरे बढ़ रहा है. सरकार ने राज्य में कोविड टेस्टिंग की प्रक्रिया तेज कर दी है. पहले टेस्टिंग की प्रक्रिया धीमी थी, इसलिए मरीज कम मिलते थे. लेकिन अब ज्यादा होने से मरीजों की संख्या भी बढ़ रही है. हर दिन 8000 से 9000 तक कोरोना संदिग्ध मरीजों के टेस्ट हो रहे हैं.

बात दें कि कुटे में बनाए गये कोविड वार्ड में 1000 बेडों की व्यवस्था होगी. फिलहाल अभी यहां पर संक्रमित पुलिसकर्मियो को ऱखने की व्यवस्था की गयी है. वहीं खेलगांव में बने कोविड वार्ड में करीब 2000 बेडों की संख्या है.

बढ़ते संक्रमण को देख सरकार रखी हुई है अपनी पैनी नजर

हेमंत ने कहा कि कोरोना को लेकर लोगों में एक डर बना हुआ है. यह डर यह है कि अस्पतालों में बेडों की कमी है. इसे लेकर तरह-तरह के अफवाहें भी उड़ायी जा रही है. हकीकत यही है कि सरकार कोरोना मरीजों और इसके बढ़ते संक्रमण पर हर तरह की पैनी नजर रखी हुई है.

आऩे वाले समय में ऐतियात के तौर पर राज्य में किसी तरह कोरोना संक्रमित मरीजों को कोई दिक्कत नहीं हो, इसके लिए मरीजों के रखरखाव के लिए विभाग जगह को चिन्हिंत कर रही है. करीब 3000 से 4000 मरीजों को रखने वाली क्षमती की जगह तलाशी जा रही है. इन जगहों पर कैसे मरीजों को कैसे रखा जाएगा, उसके लिए हर व्यवस्था पर स्वास्थ्य विभाग काम कर रही है.

इसे भी पढ़ेंः अच्छी पहल : बिहार सरकार कोरोना संक्रमण से मरने वाले कर्मचारियों के परिजन को देगी विशेष पेंशन

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button