न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

मानसून सत्र : शिक्षक नियोजन में देरी पर हंगामा, मंत्री बोले- नवंबर तक हो जायेगी बहाली

विधायक हरिशंकर यादव ने अपने विधानसभा क्षेत्र के एक स्कूल का मामला उठाया जहां छात्र हैं लेकिन एक भी शिक्षक नहीं

849

Patna : मानसून सत्र में मंगलवार को विपक्षी दलों ने शिक्षकों के नियोजन में देरी को लेकर सदन में जमकर हंगामा किया.

विधानसभा की कार्यवाही शुरू होते ही विपक्ष ने हंगामा शुरू कर दिया. इसके बाद शिक्षा मंत्री कृष्णनंदन वर्मा ने जवाब देते हुए कहा कि नवंबर तक शिक्षकों की बहाली कर ली जायेगी.

सरकारी स्कूलों में शिक्षकों की कमी को लेकर विपक्ष द्वारा उठाये गये सवाल का जवाब देते हुए शिक्षा मंत्री ने कहा कि तीन महीने के अंदर राज्य के सभी सरकारी स्कूलों से शिक्षकों की कमी को दूर कर दिया जायेगा, नवंबर तक नये शिक्षकों की बहाली हो जायेगी.

इसे भी पढ़ें : देशभर में CBI की रेडः झारखंड के पांच शहरों में छापेमारी, रांची के तीन ठिकानों पर छापा

स्कूल में छात्र हैं शिक्षक नहीं

प्रश्नोत्तर काल में रघुनाथपुर के विधायक हरिशंकर यादव ने अपने विधानसभा क्षेत्र के एक स्कूल का मामला उठाया जहां छात्र हैं लेकिन एक भी शिक्षक नहीं.

जवाब देते हुए शिक्षा मंत्री ने कहा कि सुप्रीम कोर्ट से हरी झंडी मिलने के बाद अब राज्य सरकार ने शिक्षक नियोजन की प्रक्रिया शुरू कर दी है.

इसे भी पढ़ें : पलामू : पत्थर माइंस पर अपराधियों का हमला, 25 से 30 राउंड फायरिंग

विधानसभा अध्यक्ष ने शिक्षा मंत्री से जवाब देने को कहा

शिक्षामंत्री के इस जवाब से विपक्षी सदस्यों ने जमकर हंगामा किया जिसके बाद विधानसभा अध्यक्ष विजय चौधरी ने भी शिक्षामंत्री से कहा कि शिक्षकों की नियोजन प्रक्रिया की समय सीमा पर सदन में स्पष्ट जवाब दें.

इसपर शिक्षामंत्री ने कहा कि नवंबर तक हर हाल में शिक्षकों की भर्ती प्रक्रिया पूरी हो जायेगी.

इसे भी पढ़ें : मालेगांव ब्लास्टः सांसद प्रज्ञा के नाम से रजिस्टर्ड बाइक को पंचनामा करनेवाले गवाह ने पहचाना

 

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like
क्या आपको लगता है कि हम स्वतंत्र और निष्पक्ष पत्रकारिता कर रहे हैं. अगर हां, तो इसे बचाने के लिए हमें आर्थिक मदद करें. आप हर दिन 10 रूपये से लेकर अधिकतम मासिक 5000 रूपये तक की मदद कर सकते है.
मदद करने के लिए यहां क्लिक करें. –
%d bloggers like this: