न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

आरयू ने एडवांस में लिया डिग्री का शुल्‍क, 6 साल बाद भी छात्र लगा रहे हैं चक्‍कर

36

Ranchi: रांची विश्वविद्यालय (आरयू) द्वारा डिग्री के लिए छात्रों से एडवांस में शुल्‍क तो ले लिया गया, लेकिन उन्‍हें 6 साल बाद भी अपनी डिग्रियां अभी तक नहीं मिली है. छात्रों ने बताया कि आरयू अंतिम सत्र में परीक्षा फॉर्म भरने के दौरान छात्रों से डिग्री के लिए पैसे ले लेता है. लेकिन, समय पर डिग्री निर्गत नहीं किया जाता है. परीक्षा बाद छात्रों को रिजल्ट आरयू तो दे देता है लेकिन, लंबे इंतजार के बाद भी छात्रों डिग्री नहीं दी जाती है.

इसे भी पढ़ें- जांच रिपोर्टः हाइकोर्ट भवन निर्माण के टेंडर में ही हुई घोर अनियमितता, क्या तत्कालीन सचिव राजबाला…

2012 से छात्रों नहीं मिल रही डिग्री

रांची विश्वविद्यालय द्वारा छात्रों से 2012 से डिग्री के नाम पर हर साल पैसे की वसूली की गयी. डिग्री वितरण का काम आरयू द्वारा केवल दीक्षांत समारोह के माध्यम से किया गया. लेकिन, जो छात्र दीक्षांत में डिग्री नहीं ले सके उन्हें छात्रों को डिग्री नहीं दी गयी. अब छह सत्रों के छात्रों को अपनी डि‍ग्रि‍यों के लिए आरयू के चक्कर लगाने पड़ रहे हैं.

डिग्री के लिए आरयू में छात्रों की लंबी कतार

अब जेएसएससी, एसएससी, बीपीएससी आदि परीक्षाओं में सफल छात्रों को डिग्री के लिए लंबी कतार में आरयू के परीक्षा विभाग के बाहर खड़ा होना पड़ रहा है. नियम के अनुसार इन छात्रों की डिग्रि‍यां आरयू को उनके विभाग/कॉलेज में प्रदान करना था. लेकिन आरयू की ओर यह पहल नहीं की गयी. शुल्क भुगतान के बाद इन छात्रों को अपनी डिग्री के लिए लंबी कतार में खड़ा होना पड़ रहा है.

इसे भी पढ़ें: 14 आइएएस का तबादला, सतेंद्र सिंह बने राज्यपाल के प्रधान सचिव, डीके तिवारी ऊर्जा विकास निगम लि. के सीएमडी

कॉलेज नहीं ले जाते डिग्रि‍यां

रांची विश्वविद्यालय के परीक्षा नियंत्रक राजेश कुमार ने कहा साल 2012 से आरयू छात्रों से डिग्रि‍यों के शुल्क ले रही है. परीक्षा कार्य में व्यस्तता के कारण छात्रों के डिग्री का काम पेंडिंग है. कई विभागों एवं कॉलेजों के छात्रों की डिग्रीयां विभाग द्वारा निर्गत कर दी गयी है. वहीं कई कॉलेज इन डिग्रीयों को विभाग से नहीं ले जा रहे हैं.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Comments are closed.

%d bloggers like this: