न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

बिरसा मुंडा एयरपोर्ट में यात्री के पास से 30 लाख रुपये बरामद, जांच में जुटी पुलिस

296

Ranchi: झारखंड में विधानसभा चुनाव के मद्देनजर चलाये जा रहे चेकिंग अभियान में लगातार राशि बरामद की जा रही है. इसी दौरान बुधवार को रांची एयरपोर्ट पर चेकिंग के दौरान एक यात्री के पास से 30 लाख रुपये बरामद किये गये.

बताया जा रहा है कि यात्री विस्‍तारा विमान से रांची से दिल्ली जा रहे एक यात्री का बैग जब स्कैनिंग के लिए स्‍कैनर मशीन में डाला गया, तो उसमें रुपये दिखे. इसके बाद उस यात्री को रोक कर बैग को जांच के लिए बाहर निकाला गया.

Aqua Spa Salon 5/02/2020

इसमें से 30 लाख रुपये बरामद हुए. फिलहाल इनकम टैक्स और रांची पुलिस की टीम मामले की तफ्तीश में जुटी हुई है. यात्री से पूछताछ की जा रही है.

सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार यह पैसा कांग्रेस के राज्यसभा सांसद धीरज साहू का बताया जा रहा है.  यह भी बताया गया है कि यह पैसा खुद धीरज साहू एयरपोर्ट से दिल्ली लेकर जा रहे थे. लेकिन पुलिस इससे इनकार कर रही है.

इसे भी पढ़ें – जाली सर्टिफिकेट देकर तीन शिक्षकों ने की नौकरी, जांच में मामले की पुष्टि के बाद भी रांची विवि ने नहीं की कार्रवाई

50 हजार रुपये से अधिक नकदी लेकर चलने पर रोक लगायी गयी है

बता दें कि झारखंड विधानसभा चुनाव को लेकर प्रशासन सतर्क है. किसी के लिए भी 50 हजार रुपये से अधिक नकदी लेकर चलने पर रोक लगायी गयी है.

विधानसभा चुनाव के मद्देनजर शहर में वाहन चेकिंग हो रही है, जिसमें 50 हजार रुपये से अधिक नकदी को जब्त किया जा रहा है. इसके लिए चौक-चौराहों पर एसएसटी (स्टैटिक सर्विलांस टीम) तैनात की गयी है.

अब तक करीब नौ करोड़ रुपये बरामद किये गये हैं. सिर्फ पिछले सात दिनों में करीब तीन करोड़ रुपये बरामद किये गये. लोकसभा चुनाव के वक्त आचार संहिता लगने से चुनाव संपन्न होने तक 7 करोड़ 50 लाख रुपये जब्त किये गये थे.

हमें इस मामले की जानकारी नहींः एयरपोर्ट थाना

एयरपोर्ट पर यात्री के बैग से 30 लाख रुपये बरामद होने के मामले एयरपोर्ट थाना की पुलिस का कहना है कि ये रुपया कहां से बरामद हुआ हमें इसकी जानकारी नहीं और न ही इस तरह का कोई मामला सामने आया है, अगर रुपया बरामद होता तो नजदीकी थाना को इसकी जानकारी दी जाती लेकिन ऐसा कोई मामला तो सामने नहीं आया है.

इसे भी पढ़ें – #JharkhandElection: लैंड बैंक, पांचवीं अनुसूची, भूख से मौत पर अखिर क्यों चुप हैं राजनीतिक दल?

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like