न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

राउरकेलाः ट्रेन में चोरी करने वाले गैंग का पर्दाफाश, 2.23 करोड़ नकद समेत तीन गिरफ्तार

गिरफ्तार लोगों में रांची निवासी राजन श्रीवास्तव भी शामिल

865

Raurkela: राउरकेला आरपीएफ की टीम ने ट्रेन में चोरी करने वाले बड़े गिरोह का पर्दाफाश किया है. चक्रधरपुर रेल मंडल के अंतर्गत आने वाले राउरकेला रेलवे स्टेशन की आरपीएफ की टीम ने बड़ी कार्रवाई करते हुए ट्रेन में बड़ी चोरी की घटना का अंजाम देने वाले मोस्ट वांटेड गैंग का पर्दाफाश किया.

mi banner add

आरपीएफ की टीम ने कार्रवाई करते हुए रांची के रहने वाले राजन श्रीवास्तव सहित तीन लोगों को गिरफ्तार किया. और इनके पास से 2.23 करोड़ रुपया बरामद किये हैं. गिरफ्तार हुए इस गैंग के कई बड़ी चोरी के केस में शामिल होने की संभावना है.

इसे भी पढ़ेंः मोदी वाराणसी से शाह गांधीनगर से लड़ेंगे चुनाव, बीजेपी की पहली सूची में 184 नाम

पूरे देश में घूम कर देते थे चोरी की घटना को अंजाम

आरपीएफ राउरकेला द्वारा गिरफ्तार गैंग के सदस्य पूरे देश में घूमकर ट्रेन में चोरी की घटना को अंजाम देते थे. गिरफ्तार हुए गैंग के लोग ट्रेन के एसी बोगी में यात्रा करते थे और एसी बोगी में यात्रा करने वाले यात्रियों के सामान पर नजर रखते थे और जैसे ही मौका मिलता था, यात्रियों का सामान चोरी करके ट्रेन से उतर जाते थे.

इस गैंग के लोग पूरे देश में चोरी की घटना को अंजाम देते थे. इस बात का अंदाजा इसी से लगाया जा सकता है. जब यह तीनों अभियुक्त गिरफ्तार हुए थे तो इनके पास से सेकंड एसी के 17 टिकट मिले थे, जो पूरे देश में अग्रिम यात्रा के लिए है. इनके द्वारा फर्जी नाम और फर्जी मोबाइल नंबर से टिकट खरीदा जाता था.

इसे भी पढ़ेंः जम्मू-कश्मीरः 24 घंटे में चार मुठभेड़, लश्कर कमांडर समेत पांच आतंकी ढेर

Related Posts

कर्नाटक : सियासी ड्रामे पर से उठेगा पर्दा,  कुमारस्वामी सरकार के भविष्य पर सोमवार को फैसला संभव

 कर्नाटक में कांग्रेस-जद(एस) सरकार रहेगी या जायेगी, इस पर सोमवार को विधानसभा में फैसला होने की संभावना है.  

दो बड़ी चोरी ने गैंग तक पहुंचाया

9 जनवरी 2019 को ट्रेन नंबर 2906 में 2.97 लाख की चोरी हुई थी. जिसकी एफआईआर जीआरपी अहमदाबाद में की गयी थी और दूसरा मामला 3 मार्च 2019 को ट्रेन नंबर 2906 से 3.14 करोड़ की चोरी का था. जिसकी एफआईआर जीआरपी हावड़ा में दर्ज किरायी गयी थी. यह दोनों मामले राउरकेला जीआरपी को ट्रांसफर किया गया था.

इस मामले में राउरकेला पोस्ट इंचार्ज एवं आरपीएफ टीम द्वारा आरक्षण चार्ट और सीसीटीवी फ़ुटेज की जांच करके एक व्यक्ति को टारगेट किया गया. जिसके बाद सीसीटीवी फ़ुटेज में पाये गये बैग एवं संदिग्ध की फ़ोटो पीड़ित पार्टी को भेजकर मिलान कराया गया. पार्टी द्वारा संदिग्ध की पहचान कर लेने पर प्रतिदिन संदिग्ध पर पैनी नज़र रखी जा रही थी.

जांच के दौरान 21 मार्च 2019 को उस संदिग्ध व्यक्ति को दो अन्य साथियों के साथ राउरकेला स्टेशन के प्लेटफार्म नंबर दो और तीन पर देखा गया. जिसके बाद उसे पकड़ कर पूछताछ की गई. और उसने उपरोक्त दोनों चोरी में संलिप्ता स्वीकार की. और उनके बैग की तलाशी लेने पर उसमें से 2 करोड़ 23 लाख रूपये की बरामदगी की गयी.

इसे भी पढ़ेंःगुमला : नक्सली वर्दी में आए अज्ञात अपराधियों ने की दो की हत्या, दो घायल 

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like
%d bloggers like this: