न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

स्वयं सेवकों की भूमिका मजबूत होनी चाहिए,  युवा इसमें बढ़ चढ़ का हिस्सा लें :  निदेशक अनिल कुमार सिंह

कुलपति की अध्यक्षता में विश्वविद्यालय स्तरीय प्राचार्यों एवं कार्यक्रम पदाधिकारियों की बैठक करने का निर्णय  

eidbanner
49

Ranchi :  स्वयं सेवकों की भूमिका मजबूत होनी चाहिए. क्योंकि अध्ययन करते हुए छात्र स्वयं सेवक के रूप में विशेष योगदान दे सकते है. उक्त बातें राज्य खेलकूद एवं युवा कार्य विभाग के निदेशक अनिल कुमार सिंह ने शुक्रवार को कहा. वे राष्ट्रीय सेवा योजना की प्रदेश स्तरीय बैठक को संबोधित कर रहे थे. बैठक का आयोजन मोरहाबादी स्थित फुटबाल स्टेडियम में किया गया था. इस दौरान उन्हेांने कहा कि युवा गतिविधियों का सशक्त माध्यम है राष्ट्रीय सेवा योजना. युवाओं को चाहिए कि इसमें बढ़ चढ़ का हिस्सा लें.

साथ ही कार्यक्रम समन्वयकों को भी चाहिए कि वे समय समय पर राज्य और कालेज स्तर के राष्ट्रीय सेवा योजना कार्यों के बीच मजबूत कड़ी की भूमिका निभाएं. अपने कार्यों का वहन करें ताकि युवाओं को सही मार्गदर्शन मिल सकें. उन्होंने कहा कि युवाओं के सक्रिय होने से ही कार्यक्रम सक्रिय होगा.

इसे भी पढ़ें – डैमों की सफाई के लिए होती है 2.60 करोड़ के फिटकिरी, चूना,ब्लीचिंग की खरीदारी, आपूर्तिकर्ता हैं…

स्वयं सेवकों के कार्यों की पहचान दिख रही

राष्ट्रीय सेवा योजना के क्षेत्रीय निदेशक विनय कुमार ने कहा कि राज्य में स्वयं सेवकों की संख्या में लगातार वृद्धि हो रही है. ऐसे में जरूरी है कि इनके साथ सामंजस्य बना रहें. समाज में भी स्वयं सेवकों के कार्यों की पहचान दिख रही है. अगर कार्यक्रम समन्वयकों का सहयोग मिला तो ऐसे छात्र जो स्वयं सेवक के रूप में कार्यरत है तेजी से प्रभावी भूमिका में आ जाएंगे.

इसे भी पढ़ें – दे नी आयो भात…दे नी आयो भात…बुदबुदाते हुए भूख से मर गई 11 साल की संतोषी

जुलाई में राज्य स्तरीय कार्यशाला जमशेदपुर एवं धनबाद में

जुलाई माह में राज्य स्तरीय दो कार्यशाला जमशेदपुर एवं धनबाद में करने का निर्णय लिया गया. गर्मी की छुट्टी के दौरान इकाई स्तर पर विशेष शिविर, विश्वविद्यालय स्तरीय अंतर महाविद्यालय कैंप, राज्य स्तरीय विशेष कैंप आयोजित कर झारखंड के चयनित 30 स्वयं सेवकों जिसमें 15 महिला और 15 पुरूषों, 10 कार्यक्रम समन्वयकों और एक कार्यक्रम समन्वयक जो विश्वविद्यालय स्तर पर हो, उन्हें पुरस्कृत किया जायेगा.

इस दौरान राष्ट्रीय सेवा योजना के गतिविधियों का मासिक, तिमाही एवं वार्षिक रिपोर्ट समय पर भेजने, विश्वविद्यालय स्तरीय सलाहकार समिति की बैठक आयोजित करने एवं विश्वविद्यालय स्तरीय कुलपति की अध्यक्षता में प्राचार्यों एवं कार्यक्रम पदाधिकारियों की बैठक करने समेत अन्य निर्णय लिये गये.

मौके पर राज्य एनएसएस कोआडिनेटर  डा ब्रजेश कुमार,  डा प्रसून दत्त, डा मार्गरेट टुडू, डा विजय कुमार, डा मसूफ अहमद, डा आशीष सचान, डा ओमप्रकाश पांडेय, डा पीके सिंह, ज्योति, डा पंपा सेन विश्वास, डा दिलीप कुमार समेत अन्य लोग उपस्थित थे.

इसे भी पढ़ें – सीएम ने फिर किया दावाः एक लाख को दे चुके हैं नौकरी, एक महीने में और 50 हजार शिक्षकों को करेंगे नियुक्त

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

hosp22
You might also like
%d bloggers like this: