न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें
bharat_electronics

रॉबर्ट वाड्रा को इलाज के लिए यूएस और नीदरलैंड जाने की अनुमति मिली

दिल्ली की रॉउज एवेन्यू कोर्ट ने  विदेश जाने की अनुमति की याचिका पर फैसला देते वाड्रा को इलाज के लिए यूएस और नीदरलैंड जाने की अनुमति दे दी है.  

37

NewDelhi : रॉबर्ट वाड्रा को इलाज के लिए विदेश जाने की अनुमति मिल गयी है.  दिल्ली की रॉउज एवेन्यू कोर्ट ने  विदेश जाने की अनुमति की याचिका पर फैसला देते वाड्रा को इलाज के लिए यूएस और नीदरलैंड जाने की अनुमति दे दी है.   अनुमति छह हफ्ते के लिए दी गयी है. रॉबर्ट वाड्रा अभी अपने जाने का शेड्यूल कोर्ट को देंगे. हालांकि, मंगलवार को उन्हें ईडी ने पूछताछ के लिए  बुलाया है.

mi banner add

बता दें कि पिछली सुनवाई में ईडी ने लंदन जाने का विरोध किया था, क्योंकि उनकी प्रॉपर्टी भी वहीं है. ईडी ने कोर्ट में कहा था कि वाड्रा लंदन क्यों जाना चाहते थे. इसके बाद वाड्रा ने कहा था कि जहां बड़ी आंत के ट्यूमर का सही इलाज हो, वह जगह आप बता दीजिए मैं वहां चला जाऊंगा. फिर वाड्रा को नीदरलैंड और यूएस बताया गया, इसलिए अब वाड्रा को इन दो देशों में अपना इलाज कराने की मंजूरी दी गयी है.

कोर्ट ने 29 मई को धनशोधन मामले में आरोपी रॉबर्ट वाड्रा की विदेश जाने की अनुमति वाली याचिका पर अपना फैसला तीन जून के लिए सुरक्षित रख लिया था. प्रवर्तन निदेशालय ने वाड्रा की उस अर्जी का विरोध किया जिसमें उन्होंने स्वास्थ्य संबंधी कारणों का हवाला देते हुए ब्रिटेन और अन्य देशों की यात्रा की अनुमति मांगी थी. वाड्रा ने अदालत को बताया कि सर गंगा राम अस्पताल के अनुसार उनकी बड़ी आंत में एक छोटा ट्यूमर है और इस बारे में वह लंदन में दूसरी राय लेना चाहें तो ले सकते हैं.

इसे भी पढ़ेंःTMC नेताओं के BJP में शामिल होने को लेकर डैमेज कंट्रोल में जुटी पार्टी

वाड्रा कथित हथियार डीलर संजय भंडारी से जुड़े हैं

Related Posts

राज्यसभा में बोले पीएम, मॉब लिंचिंग का दुख, पर पूरे झारखंड को बदनाम करना गलत

सरायकेला की घटना पर जताया दुख, कहा- न्याय हो, इसके लिए कानूनी व्यवस्था है

प्रवर्तन निदेशालय ने अर्जी का यह कहते हुए विरोध किया था कि चिकित्सीय स्थिति वहां जाने का एक बहाना है, जहां धनशोधन से अर्जित राशि है. सॉलिसिटर जनरल तुषार मेहता ने प्रवर्तन निदेशालय की ओर से पेश होते हुए कहा था, हमें उनकी चिकित्सीय रिपोर्ट के आधार पर एक राय प्राप्त हुई… यह नियमित चिकित्सीय स्थिति है, जिसे न तो शल्यक्रिया की जरुरत है और न ही किसी इलाज की. ऐसा नहीं है कि इलाज भारत में उपलब्ध नहीं है. किसी विशेष शहर में दूसरी राय प्राप्त करने की विलासिता की इजाजत नहीं दी जानी चाहिए.

प्रवर्तन निदेशालय ने अदालत को यह भी बताया था कि वाड्रा कथित हथियार डीलर संजय भंडारी से जुड़े हैं जो कि लंदन में था. एजेंसी ने अदालत से कहा था, वे फरार हो सकते हैं और हो सकता है कि वापस नहीं आयें.  वे जांच को प्रभावित कर सकते हैं और सबूत नष्ट कर सकते हैं. भंडारी भारत से भाग गया और वर्तमान में लंदन में है. इस मामले में वह वाड्रा से जुड़ा है. वाड्रा को यदि विदेश जाने की इजाजत दी गयी  तो वे सबूत नष्ट कर सकते हैं.

इसे भी पढ़ेंःप. बंगालः ‘जय श्री राम’ पर सियासत गरम, ममता बनर्जी का आरोप- धर्म और राजनीति को मिला रही BJP

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

dav_add
You might also like
addionm
%d bloggers like this: