न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

ग्लोबल एग्रीकल्चर एंड फूड समिट को लेकर कोलकाता में रोड शो

झारखंड से कृषि, पशुपालन एवं सहकारिता सचिव पूजा सिंघल, उद्योग सचिव विनय कुमार चौबे, निदेशक उद्योग के रवि कुमार, निदेशक कृषि रमेश घोलप, संयुक्त निदेशक मत्स्य विभाग मनोज कुमार मौजूद थे.

41

Ranchi/Kolkata : ग्लोबल एग्रीकल्चर एंड फूड समिट को लेकर कोलकाता में रोड शो की आयोजन हुआ. आयोजन में झारखंड से हिस्सा लेने गए अधिकारियों ने रोडशो में मौजूद कंपनियों को बताया कि आखिर वो झारखंड में निवेश क्यों करे. निवेश से होने वाले फायदों के बारे में अधिकारियों ने कंपनियों के पदाधिकारियों को बताया. आयोजन में हिस्सा लेने के लिए देश भर से 32 कंपनियों के पदाधिकारी ने हिस्सा लिया. झारखंड से कृषि, पशुपालन एवं सहकारिता सचिव पूजा सिंघल, उद्योग सचिव विनय कुमार चौबे, निदेशक उद्योग के रवि कुमार, निदेशक कृषि रमेश घोलप, संयुक्त निदेशक मत्स्य विभाग मनोज कुमार मौजूद थे.

इसे भी पढ़ें : व्यावसायिक वाहनों के प्रवेश के विरोध में रांची विश्वविद्यालय कैंपस में छात्रों ने किया प्रदर्शन

नवंबर में होना है आयोजन

29 और 30 नवंबर को मोमेंटम झारखंड, ग्लोबल एग्रीकल्चर एंड फूड समिट का आयोजन खेलगांव में किया जाएगा. यह समिट झारखंड सरकार के कृषि और उद्योग विभाग के संयुक्त तत्वाधान में आयोजित किया जाएगा. ग्लोबल एग्रीकल्चर एंड फूड समिट में 10 हजार किसान भाग लेंगे. जिसमें 5-6 हजार किसान झारखंड के होंगे. समिट में जिलों के अग्रणी एग्री इंटरप्रेन्योर के रुप में भाग लेंगे. वहीं दूसरे देशों के अग्रणी किसानों को भी भाग लेने के लिए आमंत्रित किया गया है. समिट के दौरान 24 जिलों के लिए अलग-अलग पवेलियन की व्यवस्था की जाएगी. जिसमें जिलों से आए किसान अपने-अपने प्रोसेसिंग और आइडियाज को नया आयाम दे पाएंगे. समिट में सभी स्टेट के लिए अलग से पवेलियन बनाए जाएंगे. सभी जिलों अग्रणी किसानों को मंच देने के लिए सरकार पहल करेगी. गांव और जिला के किसानों का जो उत्पादन करा कर विदेशों में निवेश करना चाहते हैं, उनके लिए सरकार फैलिसिटेशन का काम करेगी.

इसे भी पढ़ें : चाईबासा अब विकास की राह पर : रघुवर दास

palamu_12

दिल्ली में हुई थी राउंड टेबल बैठक

झारखंड में 29 और 30 नंवबर को होने वाले ग्लोबल एग्रीकल्चर एंड फूड समिट के लिए दिल्ली में 19 सितंबर को राउंड टेबल मीटिंग हुई थी. मीटिंग में 12 देशों के राजदूत और आठ देश के डिप्लोमैट्स ने हिस्सा लिया था. इन देशों में फ्रांस, जापान, रूस, वियतनाम, फिलीपिंस, चेक गणराज्य, नाइजीरिया और केन्या शामिल थे. झारखंड की तरफ से इस उच्च स्तरीय बैठक में हिस्सा लेने के लिए स्थानीय आयुक्त झारखंड भवन मस्तराम मीणा, कृषि विभाग की सचिव पूजा सिंघल, उद्योग विभाग के सचिव विनय कुमार चौबे और मुख्यमंत्री के पीएस केपी बालियान मौजूद थे. साथ ही झारखंड सरकार की नॉलेज पार्टनर ई एंड वाई के प्रतिनिधि भी मौजूद थे. भारत सरकार के विदेश मंत्रालय की तरफ से संयुक्त सचिव विनोद के जकॉब और एमकेएल राजा मीटिंग में मौजूद थे.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

%d bloggers like this: