न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

पथ निर्माण विभाग ने मैकेनिकल डिवीजन को किया समाप्त

44 पदों में से कार्यरत 12 को विभिन्न कार्यालयों में किया संबद्ध

35
  • खाली पड़े 27 पदों को किया गया सरेंडर

Ranchi: झारखंड सरकार ने अपने अधीन आनेवाले मैकेनिकल डिवीजन (यांत्रिक प्रमंडल) को समाप्त कर दिया है. इसके अंदर आनेवाले सभी पदों में पदस्थापित इंजीनियर और अन्य कर्मियों को विभाग के अन्य कार्यालय में पदस्थापित कर दिया है. तत्कालीन मुख्य सचिव राजबाला वर्मा और विकास आयुक्त अमित खरे की अध्यक्षता में हुई प्रशासी पदवर्ग समिति की बैठक में यह फैसला लिया गया था. पथ निर्माण विभाग का यांत्रिक प्रमंडल का कार्यालय रांची, साहेबगंज में था. यांत्रिक प्रमंडल रांची के कार्यालय में 13 पद सृजित थे, जिसमें से पांच पदों को सरेंडर कर दिया गया है, तथा आठ कर्मियों को विभाग के अन्य कार्यालयों में शिफ्ट किया गया है. यांत्रिक प्रमंडल साहेबगंज में 14 पदों में से 10 सरेंडर कर दिया गया, जबकि चार पदों पर पदस्थापित कर्मियों को दूसरी जगह भेजा गया है.

कनीय अभियंता (यांत्रिक) के आठ अतिरिक्त पदों में से सभी को सरेंडर कर दिया गया था. विभाग के यांत्रिक प्रमंडल (मुख्यालय) में अधीक्षण अभियंता, अधीक्षण अभियंता के तकनीकी सलाहकार, पत्राचार लिपिक, लेखा लिपिक, स्टेनोग्राफर, टंकक, अनुसेवक के नौ पदों में से चार को सरेंडर कर दिया गया है. पथ निर्माण विभाग के यांत्रिक प्रमंडल के विभिन्न श्रेणियों के अभियंता और उनके अधीन  आनेवाले वर्ग-3 और चार के खाली पड़े पदों को सरकार ने सरेंडर कर दिया है. सरकार की तरफ से तय किया गया है कि वित्त विभाग के संकल्प के आधार पर स्वीकृत वेतनमान और ग्रेड पे स्थानांतरित कार्यालय में प्रभावी होंगे.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Comments are closed.

%d bloggers like this: